सैयद अकबर हुसैन  

सैयद अकबर हुसैन
सैयद अकबर हुसेन
पूरा नाम सैयद अकबर हुसैन
जन्म 1846 ई.
जन्म भूमि इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश
मृत्यु 1921 ई.
मृत्यु स्थान प्रयाग
कर्म भूमि भारत
मुख्य रचनाएँ 'कुल्लियात-ए- अकबर भाग-4', 'गांधीनामा', पत्रों का संग्रह,
भाषा उर्दू
शिक्षा वकालत
प्रसिद्धि न्यायधीश
विशेष योगदान सैयद अकबर हुसेन समाज में हर ऐसे अच्छे-बुरे परिवर्तन के विरुद्ध थे, जो अंग्रेज़ी प्रभाव से प्रेरित था।
नागरिकता भारतीय
इन्हें भी देखें कवि सूची, साहित्यकार सूची

सैयद अकबर हुसेन (जन्म: 1846 ई. इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश; मृत्यु: 1921 ई.) भारत के प्रसिद्ध न्यायधीशों में गिने जाते थे। इसके साथ ही वे उर्दू के जानेमाने कवि भी थे। वे समाज में हर ऐसे अच्छे-बुरे परिवर्तन के विरोधी थे, जो अंग्रेज़ी प्रभाव से प्रेरित था[1]

जन्म तथा शिक्षा

सैयद अकबर हुसैन का जन्म 1846 ई. में इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश के एक सम्मानजनक परिवार में हुआ था। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपन पिता द्वारा घर पर ही प्राप्त की थी। थोड़ी शिक्षा प्राप्त करने के बाद 1868 में मुख्तारी की परीक्षा उत्तीर्ण की। 1869 ई. में नायब तहसीलदार हुए। कुछ समय बाद उच्च न्यायालय की वकालत उत्तीर्ण की और मुनसिफ हो गए, फिर क्रमश: उन्नति करते हुए सेशन जज हुए, जहाँ से 1920 ई. में उन्होंने अवकाश प्राप्त किया।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

  1. । Error on call to Template:cite web: Parameters url and title must be specified (हिन्दी) भारतखोज। अभिगमन तिथि: 25 जुलाई, 2015।
और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=सैयद_अकबर_हुसैन&oldid=532467" से लिया गया