प्रेमलता अग्रवाल  

प्रेमलता अग्रवाल
  • झारखण्ड राज्य के जमशेदपुर की प्रेमलता अग्रवाल ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट को फ़तह कर नया भारतीय रिकॉर्ड बनाया। वे देश की सबसे अधिक उम्र की पर्वतारोही बन गईं, जिन्होंने माउंट एवरेस्ट फ़तह किया है। प्रेमलता ने 20 मई, 2011 को सुबह 9:35 बजे माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा फहराया। प्रेमलता दो बच्चों की माँ हैं।[1]
  • इस अभियान के लिए 18000 पुट की ऊंचाई पर लगे आधार शिविर तथा एवरेस्ट चोटी के बीच तीन अन्य शिविर लगाए गए थे। वर्ष 1984 में लगभग 29 साल की उम्र में एवरेस्ट पर चढ़ने वाली पहली भारतीय महिला का गौरव हासिल करने वाली बछेंद्री पाल भी उनके अभियान की निगरानी कर रही थी। बछेंद्री के प्रोत्साहित किए जाने पर पर्वतारोहण सीखने वाली प्रेमलता अग्रवाल नेपाल की एशियन ट्रेकिंग कंपनी की देख रेख में मार्च के अंत में शुरू हुए इको एवरेस्ट अभियान 2011 के 22 सदस्यीय अंतर्राष्ट्रीय दल का हिस्सा थीं।[2]



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. नया रिकॉर्ड, 45 की उम्र में एवरेस्ट फ़तह (हिन्दी) (एच.टी.एम.एल) दैनिक भास्कर। अभिगमन तिथि: 20 मई, 2011
  2. एवरेस्ट पर चढ़ प्रेमलता ने रचा नया इतिहास (हिन्दी) (ए.एस.पी) पत्रिका डॉट कॉम। अभिगमन तिथि: 20 मई, 2011

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=प्रेमलता_अग्रवाल&oldid=593883" से लिया गया