दुमका  

दुमका नगर झारखण्ड राज्य, पूर्वोत्तर भारत में स्थित है। यह नया दुमका भी कहलाता है। मोर नदी के पूर्व में स्थित दुमका सिद्धू कानू विश्वविद्यालय का मुख्यालय भी है। यह सड़क जंक्शन और प्रमुख कृषि व्यापार केंद्र है। यहाँ साप्ताहिक पशु हाट लगता है। 1903 में यहाँ नगरपालिका की स्थापना हुई। यहाँ पर मुख्यत: धान, मक्का, गेहूँ और सरसों की खेती की जाती है।

इतिहास

पाषाण काल खनन के प्राप्त औजारों से पता चला है कि यहाँ के मूल निवासी मोन-ख्मेर और मुंडा थे। इस ज़िले के प्राचीन निवासी पहाड़ी लोग थे। ग्रीक यात्री मेगस्थनीज ने इन्हें माली नाम से संबोधित किया। राजमहल की पहाड़ियों के घिरे होने के कारण दुमका जितना दुर्गम रहा है उतना है आर्थिक दृष्ट से अहम भी। 1539 में चौसा के युद्ध में शेरशाह सूरी की जीत के बाद यह क्षेत्र अफ़ग़ानों के क़ब्ज़े में आ गया, लेकिन जब हुसैन कुली ख़ान ने बंगाल पर जीत हासिल की तो यह क्षेत्र मुग़ल सम्राट अकबर के प्रभुत्व में आ गया।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=दुमका&oldid=311226" से लिया गया