रवालसर  

दिनेश (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 19:15, 7 जनवरी 2015 का अवतरण

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

रवालसर हिमाचल प्रदेश का ऐतिहासिक स्थान है। इस स्थान का प्राचीन नाम 'रोयलेश्वर' था। यहाँ पुराने समय का एक बौद्ध मंदिर है, जिसमें पद्मसम्भव नामक बौद्ध भिक्षु की एक विशाल मूर्ति है।

  • यहाँ स्थित बौद्ध मंदिर में भित्ति चित्र भी हैं।
  • पद्मसम्भव ने तिब्बत जाकर बौद्ध धर्म का प्रचार किया था। ऐसा जान पड़ता है कि संभवत: वे इस स्थान पर कुछ समय तक रहे होंगे।
  • रवालसर का संबंध महर्षि लोमश तथा पांडवों से भी बताया जाता है।
  • गुरुगोविंद सिंह जी यहां कुछ काल पर्यान्त रहे थे।
  • भारत से तिब्बत को जाने वाला प्राचीन मार्ग रवालसर होकर ही जाता था।
  • इस स्थान का एक पुराना नाम 'रेवासर' भी है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |संकलन: भारतकोश पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 778 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=रवालसर&oldid=516360" से लिया गया