बलबीर सिंह  

रविन्द्र प्रसाद (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 11:24, 10 अक्टूबर 2017 का अवतरण

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

बलबीर सिंह
बलबीर सिंह
पूरा नाम बलबीर सिंह
जन्म 10 अक्टूबर, 1924
जन्म भूमि जालंधर, पंजाब
कर्म भूमि भारत
खेल-क्षेत्र हॉकी
शिक्षा स्नातक
विद्यालय खालसा कॉलेज, अमृतसर
पुरस्कार-उपाधि 'पद्मश्री', (1957)
प्रसिद्धि हॉकी खिलाड़ी
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी बलबीर सिंह ने तीन बार ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व किया। इन तीनों ओलंपिक (लंदन 1948, हेलसिंकी 1952, मेलबर्न 1956) में भारत ने स्वर्ण पदक जीता था।
अद्यतन‎ 04:10, 09 नवम्बर-2016 (IST)

बलबीर सिंह (अंग्रेज़ी: Balbir Singh, जन्म- 10 अक्टूबर, 1924, जालंधर, पंजाब) भारत के प्रसिद्ध हॉकी खिलाड़ियों में गिने जाते हैं। हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह का नाम आज भी शीर्ष खिलाड़ियों में लिया जाता है। वह अपने खेलने के दिनों से ही सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में एक समझे जाते रहे है। उनकी आज भी भारत में ही नहीं विश्व में भी प्रशंसा होती है। उनकी हाँकी से ऐसे गोल निकलते थे, जिनका जवाब नहीं। उन्होंने तीन बार ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता- 1948, 1952 तथा 1956 में। वह पंजाब सरकार में खेलों के निदेशक भी रहे। मोगा में एक इनडोर स्टेडियम का नाम उनके नाम पर रखा गया है। बलबीर सिंह को 1957 में ‘पद्मश्री’ से सम्मानित किया गया था।

परिचय

बलबीर सिंह का जन्म 10 अक्टूबर, सन 1924 में पंजाब राज्य के जालंधर ज़िले में हरीपुर नामक स्थान पर हुआ था। वह हॉकी के बेहतरीन स्ट्राइकर समझे जाते रहे हैं। वह हॉकी टीम के सेंटर-फारवर्ड खिलाड़ी रहे तथा तीन बार ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व किया। बलबीर सिंह की प्रारम्भिक शिक्षा देव समाज स्कूल तथा डी.एम. कॉलेज मोगा में हुई। उन्होंने अमृतसर के खालसा कॉलेज से स्नातक शिक्षा प्राप्त की।[1]

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=बलबीर_सिंह&oldid=608879" से लिया गया