पांडव गुफ़ाएँ, पंचमढ़ी  

रविन्द्र प्रसाद (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 15:52, 17 अप्रॅल 2017 का अवतरण

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

पांडव गुफ़ाएँ मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल पंचमढ़ी में स्थित हैं। इन गुफ़ाओं का सम्बंध महाभारत के पात्र पांडवों से बताया जाता है।

  • एक छोटी पहाड़ी पर यह पांच प्राचीन गुफ़ाएँ बनी हैं। इन्हीं पांच गुफ़ाओं के कारण इस स्थान को 'पंचमढ़ी' कहा जाता है।
  • कहा जाता है कि पांडव अपने वनवास के दौरान इन्हीं गुफ़ाओं में आकर ठहरे थे।
  • सबसे साफ-सुथरी और हवादार गुफ़ा को 'द्रोपदी कुटी' कहा जाता है, जबकि सबसे अंधेरी गुफ़ा 'भीम कोठरी' के नाम से लोकप्रिय है।
  • पुरातत्वेत्ताओं का मानना है कि इन गुफ़ाओं को 9वीं और 10वीं शताब्दी में गुप्त काल के दौरान बौद्धों द्वारा बनवाया गया था।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=पांडव_गुफ़ाएँ,_पंचमढ़ी&oldid=589230" से लिया गया