"कथेतर साहित्य" के अवतरणों में अंतर  

(''''कथेतर साहित्य''' भारतीय साहित्य की वह शाखा है, जिस...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)
 

(कोई अंतर नहीं)


16:08, 1 अगस्त 2020 के समय का अवतरण

कथेतर साहित्य भारतीय साहित्य की वह शाखा है, जिसमें दर्शाए गए स्थान, व्यक्ति, घटनाएँ और सन्दर्भ पूर्णतः वास्तविकता पर ही आधारित होते हैं। इसके विपरीत कपोल कल्पना है, जिसमें कथाएँ कुछ मात्रा में या पूरी तरह लेखक की कल्पना पर आधारित होतीं हैं। उनमें कुछ तत्व वास्तविकता से हटकर होते हैं।

  1. पद्य साहित्य
  2. गद्य साहित्य
  • गद्य साहित्य के दो रूप हैं-
  1. कथात्मक गद्य
  2. कथेतर गद्य
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=कथेतर_साहित्य&oldid=648503" से लिया गया