मोरारजी देसाई  

व्यक्तिव विशेषताएँ

  • मोरारजी देसाई को गांधीवादी नीति का परम समर्थक माना जाता है। लेकिन इस नीति में इन्होंने क्षमा भाव को शायद स्वीकार नहीं किया था और ही निजता के अहं का त्याग किया था। मोरारजी जो निर्णय कर लेते थे, उस पर क़ायम रहते थे। ब्रिटिश नौकरी छोड़कर जब वह स्वतंत्रता संग्राम के सिपाही बने तब भी इन्होंने अपनी अंतरात्मा पर ही निर्णय दिया था।
  • मोरारजी के व्यक्तित्व में सादगी, ईमानदारी तथा कर्तव्यनिष्ठा थी। वह सत्य एवं अहिंसा के उपासक भी थे। इसीलिए राजनीति उनके व्यक्तित्व से मेल नहीं खाती थी। राजनीति में समझौते किये जाते हैं और पार्टी की इच्छा का आदर किया जाता है। लेकिन मोराराजी देसाई इस प्रकार के समझौते नहीं कर पाते थे।
  • लाल बहादुर शास्त्री राजनीति में इनसे काफ़ी जूनियर थे, इसीलिए उनका प्रधानमंत्री बनना मोरारजी देसाई पचा नहीं पाए थे, जबकि राजनीति में इस प्रकार की बातें स्वभावत: सहन की जाती हैं।
  • मोरारजी देसाई स्पष्ट वक्ता थे और अन्याय सहन नहीं करते थे। वह अपनी प्रतिक्रिया तत्काल व्यक्त कर देते थे। जैसे-अटल बिहारी वाजपेयी को इन्होंने कह दिया था कि 'घर पर भी रहा करो।'
  • मोरारजी देसाई को भारतीय संस्कृति और उसकी परम्परा पर अटूट विश्वास था। वह अध्यात्मवादी व्यक्ति भी थे। मोरारजी देसाई अपने स्वास्थ्य को लेकर जो उन्हें ठीक लगता था, उसका पालन करते थे। वह भोजन में थोड़ा दूध, मौसमी फलों का रस एवं कुछ सूखे मेवे लेते थे। जब वह प्रधानमंत्री तब वह कोई भी अन्न नहीं खाते थे।
  • मोरारजी देसाई 'स्व-मूत्रपान' को स्वास्थ्य की दृष्टि से उत्तम औषधि मानते थे। 'शिवांगु' अर्थात् स्व-मूत्रपान के सम्बन्ध में उन्होंने सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया था और इसके लाभ भी बताए थे।
  • मोरारजी देसाई 'श्रीमदभगवद् गीता' के दर्शन से काफ़ी प्रभावित थे। लेकिन रात्रि नौ बजे अपने शयन कक्ष में अवश्य पहुँच जाते थे। इन्हें रात्रि में जागना गवारा नहीं था, जब तक की कोई भारी विपत्ति न आ जाए। प्रधानमंत्री रहते हुए भी इनकी यही प्रक्रिया जारी रही।
  • मोरारजी देसाई में अनूठा आत्मबल था। इनकी ज़िद्दी स्वभाव में यह बात भी शामिल थी कि इन्हें शतायु (100 वर्ष की उम्र) अवश्य होना है। लेकिन इनकी मृत्यु 99 वर्ष और कुछ माह गुज़रने के बाद 1995 में ही हो गई।
  • मोरारजी देसाई एकमात्र ऐसे भारतीय प्रधानमंत्री हैं जिन्हें भारत सरकार की ओर से 'भारत रत्न' तथा पाकिस्तान की ओर से 'तहरीक़-ए-पाकिस्तान' का सर्वश्रेष्ठ नागरिक सम्मान प्राप्त हुआ है।



भारत के प्रधानमंत्री
Arrow-left.png पूर्वाधिकारी
इंदिरा गाँधी
मोरारजी देसाई उत्तराधिकारी
चौधरी चरण सिंह
Arrow-right.png


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मोरारजी_देसाई&oldid=622063" से लिया गया