अक्लमा नदी  

अक्लमा नदी प्लक्षद्वीप की सात मुख्य नदियों में है-

'अनुतप्ता शिखी चैव विपाशा त्रिदिवाक्लमा।
अमृता सुकृता चैव सप्तैतास्तत्र निम्नगा:'[1]
  • विष्णु पुराण में इसका उल्लेख मिलता है।
  • कहा जाता है कि इनके श्रवण मात्र से ही पाप दूर हो जाते हैं।
  • सम्भवत: यह नदी काल्पनिक है।


टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. विष्णु पुराण 2.4.11.

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=अक्लमा_नदी&oldid=626733" से लिया गया