अंतर्राष्ट्रीय  

संस्कृत के अनुसार अंतर्राष्ट्रीय (अंतर्देशीय) शब्द राष्ट्र/देश के भीतर को इंगित करता है, जब कि अंतरराष्ट्रीय (अंतरदेशीय) शब्द राष्ट्र/देश के बाहर का संकेत देता है। देश के भीतर पत्राचार के लिए अन्तर्देशीय पत्रों का चलन है जो अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर अस्वीकार्य हैं। इन्हें भी देखें: अंतरराष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय

विशेष

‘अंतर्’, का अर्थ है ‘अंदर का’ या ‘के मध्य’ या ‘बीच में’। इस का प्रयोग ‘अंतर्द्वद्वं’, ‘अंतर्भूमि’, और ‘अंतर्लीन’ जैसे शब्दों में देखा जा सकता है। यह अंतःकरण’ और ‘अंतः पुर’ जैसे शब्दों में ‘अतः’ के रुप में प्रयुक्त होता है। ‘अंतर्राष्ट्रीय’ और ‘अंतर्देशीय’ शब्दों में ‘अंतर्’, व्यवहृत होने के कारण इन का अर्थ है ‘राष्ट्र के अंदर का’ ‘देश के अंदर का’। डाक-तार-विभाग द्वारा प्रसारित ‘अंतर्देशीय पत्र कार्ड’ केवल ‘देश के भीतर’ चलते हैं। उन पर अंग्रेज़ी में छपे ‘इनलैंड लेटर कार्ड’ की सार्थकता ध्यातव्य है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=अंतर्राष्ट्रीय&oldid=614000" से लिया गया