हैदराबाद  

हैदराबाद विषय सूची
हैदराबाद
चारमीनार, हैदराबाद
विवरण दक्षिण पू्र्वी भारत में स्थित हैदराबाद, आंध्र प्रदेश राज्य की राजधानी है। यह दक्कन के पठार पर मूसा नदी के किनारे स्थित है। इस शहर को विविध संस्कृतियों के केंद्र के रूप में भी जाना जाता है।
राज्य आंध्र प्रदेश
ज़िला हैदराबाद
निर्माता मुहम्मद कुली क़ुतुबशाह
स्थापना सन 1591 ई.
भौगोलिक स्थिति उत्तर- 17.366°, पूर्व- 78.476°
मार्ग स्थिति हैदराबाद, बैंगलोर से 574 किलोमीटर दक्षिण में, मुंबई से 750 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में, चेन्नई से 700 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में है।
प्रसिद्धि हैदराबादी बिरयानी
कब जाएँ मार्च से जून के पहले सप्ताह तक हैदराबाद का मौसम गर्म रहता है। हैदराबाद जाने के लिए अक्टूबर से फ़रवरी के बीच का समय उपयुक्त है।
कैसे पहुँचें हवाई जहाज, रेल, बस, टैक्सी
हवाई अड्डा राजीव गाँधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा, बेगमपेट हवाई अड्डा
रेलवे स्टेशन सिंकदराबाद रेलवे स्टेशन, नामपल्ली रेलवे स्टेशन, काचीगुड़ा रेलवे स्टेशन
बस अड्डा महात्मा गाँधी (इम्लिबन) बस अड्डा
यातायात टैक्सी, ऑटो-रिक्शा, साइकिल रिक्शा, बस आदि।
क्या देखें हैदराबाद पर्यटन
कहाँ ठहरें होटल, अतिथि ग्रह, धर्मशाला
क्या खायें हैदराबादी बिरयानी, मिर्ची का सालन, भरवा बैंगन, हलीम, कबाब
क्या ख़रीदें आभूषण, रंग-बिरंगी चित्रकारी, ऊन और बांस से बने डिब्बे, साड़ी, चूड़ियाँ आदि।
एस.टी.डी. कोड 040
ए.टी.एम लगभग सभी
Map-icon.gif गूगल मानचित्र
अद्यतन‎

दक्षिण पू्र्वी भारत में स्थित हैदराबाद शहर आंध्र प्रदेश राज्य की राजधानी है। यह दक्कन के पठार पर मूसा नदी के किनारे स्थित है। हैदराबाद गोलकुंडा के क़ुतुबशाही सुल्तानों द्वारा बसाया गया था, जिनके शासन में गोलकुंडा ने वह महत्त्वपूर्ण स्थान प्राप्त किया, जहाँ केवल उत्तर में मुग़ल साम्राज्य ही उससे आगे था। ख़ूबसूरत इमारतों, निज़ामी शानो-शौक़त और लजीज खाने के कारण मशहूर हैदराबाद भारत के मानचित्र पर एक प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में अपनी एक अलग अहमियत रखता है। इस शहर को विविध संस्कृतियों के केंद्र के रूप में भी जाना जाता है। निज़ामों के इस शहर में आज भी हिन्दू-मुस्लिम सांप्रदायिक सौहार्द्र से एक-दूसरे के साथ रहकर उनकी खुशियों में शरीक होते हैं।

स्थापना

गोलकुंडा का पुराना क़िला राज्य की राजधानी के लिए अपर्याप्त सिद्ध हुआ और इसलिए लगभग 1591 में क़ुतुबशाही वंश में पाँचवें मुहम्मद कुली क़ुतुबशाह ने पुराने गोलकुंडा से कुछ मील दूर मूसा नदी के किनारे हैदराबाद नामक नया नगर बनाया।

चारमीनार, हैदराबाद
Charminar, Hyderabad

चार खुली मेहराबों और चार मीनारों वाली भारतीय-अरबी शैली की भव्य वास्तुशिल्पीय रचना चारमीनार, क़ुतुबशाही काल की सर्वोच्च उपलब्धि मानी जाती है। यह वह केंद्र है, जिसके आसपास बनाई गई मक्का मस्जिद 10 हज़ार लोगो को समाहित कर सकती है। हैदराबाद अपने सौंदर्य और समृद्धि के लिए जाना जाता था।

हैदराबाद का नामकरण

हैदराबाद नाम के पीछे कई कहानियाँ प्रचलित हैं। सबसे प्रसिद्ध कहानी है कि हैदराबाद की नींव बसाते समय मुहम्मद कुली क़ुतुबशाह को एक स्थानीय बंजारा लड़की भागमती से प्रेम हो गया। भागमती से शादी के बाद उसने इस शहर का नाम भाग्यनगरम रखा। तत्कालीन चलन के अनुरूप इस्लाम स्वीकार करने के बाद, भागमती का नाम हैदर महल रखा गया और शहर को भी हैदराबाद नाम मिला।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 1.2 1.3 1.4 हैदराबाद (हिन्दी) यात्रा सलाह डॉट कॉम। अभिगमन तिथि: 23 जनवरी, 2011
  2. हैदराबाद क्षेत्रीय केन्द्र (हिन्दी) इग्नू। अभिगमन तिथि: 23 जनवरी, 2011
  3. संस्कृतियों का संगम हैदराबाद (हिन्दी) देशबन्धु। अभिगमन तिथि: 23 जनवरी, 2011
  4. 4.0 4.1 इतिहास का एक पन्ना हैदराबाद (हिन्दी) जागरण यात्रा। अभिगमन तिथि: 25 जनवरी, 2011
  5. ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैम्पियनशिप के विजेता - 2001

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=हैदराबाद&oldid=489747" से लिया गया