हेमू  

हेमू
हेमचन्द्र विक्रमादित्य
पूरा नाम हेमचन्द्र विक्रमादित्य
अन्य नाम हेमू
जन्म 1501 ई.
जन्म भूमि अलवर, राजस्थान
पिता/माता राय पूरनमल
उपाधि विक्रमादित्य
शासन दिल्ली
राज्याभिषेक 7 अक्टूबर, 1556 ई.
युद्ध पानीपत का द्वितीय युद्ध
संबंधित लेख शेरशाह सूरी, हुमायूँ, अकबर, बैरम ख़ाँ
विशेष लगभग तीन शताब्दियों तक दिल्ली पर मुस्लिम शासन के बाद हेमू ही वह हिन्दू था, जिसने दिल्ली पर अधिकार किया।
अन्य जानकारी हेमू शेरशाह सूरी का योग्य दीवान, कोषाध्यक्ष और सेनानायक था। शेरशाह की सफलता में उसकी प्रबंध कुशलता और वीरता का सबसे बड़ा हाथ रहा था। आर्थिक सूझ−बूझ में उसके समान कोई दूसरा व्यक्ति नहीं था।

हेमचन्द्र विक्रमादित्य (संक्षिप्त नाम- 'हेमू') भारत का अंतिम हिन्दू राजा था। 'भारतीय इतिहास के वीर पुरुषों में वह गिना जाता है। "मध्यकालीन भारत का नेपोलियन" कहा जाने वाला हेमू अपनी असाधारण प्रतिभा के बल पर एक साधारण व्यापारी से प्रधानमंत्री एवं सेनाध्यक्ष की पदवी तक पहुँचा था। यह ऐतिहासिक सफर उसने एक अजेय महानायक के रूप में पूरा किया था। उसके अपार पराक्रम तथा वीरता के कारण ही उसे 'विक्रमादित्य' की उपाधि मिली थी। हेमू शेरशाह सूरी का योग्य दीवान, कोषाध्यक्ष और सेनानायक था। शेरशाह की सफलता में उसकी प्रबंध कुशलता और वीरता का सबसे बड़ा हाथ रहा था। आर्थिक सूझ−बूझ में उसके समान कोई दूसरा व्यक्ति नहीं था। हेमू ने अपना अंतिम युद्ध प्रसिद्ध पानीपत के मैदान में लड़ा। यह युद्ध वह मुग़ल सेनापति बैरम ख़ाँ की कूटनीतिक चाल से हार गया। आँख में एक तीर लग जाने से हेमू की सेना बिखर गई और उसे हार का सामना करना पड़ा।

जन्म तथा परिचय

हेमू का जन्म एक ब्राह्मण परिवार में 1501 ई. में अलवर, राजस्थान में हुआ था। उसके पिता का नाम राय पूरनमल था, जो उस वक़्त पुरोहित थे। बाद के समय में मुग़लों द्वारा पुरोहितों को परेशान करने की वजह से राय पूरनमल रेवाड़ी, हरियाणा में आकर नमक का व्यवसाय करने लगे। अपनी छोटी आयु से ही हेमू शेरशाह सूरी के लश्कर को अनाज एवं पोटेशियम नाइट्रेट[1] उपलब्ध करने के व्यवसाय में पिता का हाथ बंटाने लगे थे। सन 1540 ई. में शेरशाह सूरी ने बादशाह हुमायूँ को हरा कर क़ाबुल लौट जाने को विवश कर दिया था। हेमू ने उसी वक़्त रेवाड़ी में धातु से विभिन्न तरह के हथियार बनाने के काम की नीव रख दी थी, जो आज भी रेवाड़ी में पीतल, ताँबा, इस्पात के बर्तन के आदि बनाने के काम के रूप में जारी है।[2]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. गन पावडर हेतु
  2. 2.0 2.1 2.2 हेमू को जानते हैं आप (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 10 जून, 2013।
  3. हेमू विक्रमादित्य की हवेली (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 10 जून, 2013।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=हेमू&oldid=370925" से लिया गया