हेमचन्द्र  

हेमचन्द्र अथवा हेमचन्द्रसूरि (1078 - 1162) श्वेताम्बर परम्परा के एक महान् जैन दार्शनिक और आचार्य थे। हेमचन्द्र दर्शन, धर्म एवं आध्यात्म के महान् चिन्तक होने के साथ-साथ एक महान् वैयाकरण, आलंकारिक, महाकवि, इतिहासकार, पुराणकार, कोशकार, छन्दोऽनुशासक एवं धर्मोपदेशक के रूप में प्रसिद्ध हैं। ये न्याय, व्याकरण, साहित्य, सिद्धान्त, संस्कृत, प्राकृत, अपभ्रंश और योग इन सभी विषयों के प्रखर विद्वान थे। हेमचन्द्र राजा सिद्धराज जयसिंह के सभा-कवि थे। वे बहुमुखी प्रतिभा सम्पन्न आचार्य थे। आचार्य श्री जैन योग के महान् ज्ञाता एवं मंत्रशास्त्र के अधिकारी विद्वान थे। इनके अद्वितीय ज्ञान एवं बहुमुखी प्रतिभा के कारण ही इन्हें 'कलिकालसर्वज्ञ' की उपाधि से अलंकृत किया गया है।

जीवन परिचय

श्वैताम्बर जैन परम्परा के आचार्य हेमचन्द्र का जन्म गुजरात में अहमदाबाद से आठ मील दूर दक्षिण-पश्चिम में स्थित धुन्धुका नगर में 1078 ई. की कार्तिक पूर्णिमा की रात्रि को हुआ था। इनके माता-पिता मोढ़ वंशीय वैश्य थे। इनकी कुलदेवी 'चामुण्डा' और कुलयक्ष 'गोनस' था। आचार्य हेमचन्द्र का मूलनाम चाग्ङदेव था। इनकी माता पाहिनी जैन थीं तथा इनके पिता चाचिंग शैव थे। इनमें कोई विरोध नहीं है, क्योंकि उस काल में दक्षिण भारत तथा गुजरात में ऐसे परिवार अनेक थे, जिनमें पति और पत्नी के धर्म अलग-अलग थे।[1]

बालक चाग्ङदेव को आठ वर्ष की उम्र में स्तम्भतीर्थ (खम्भात) में जैन संघ की अनुमति से दीक्षा दी गई और उनका नाम सोमचन्द्र हो गया। सोमचन्द्र ने अल्पकाल में ही दर्शन, लक्षण एवं साहित्य में अपूर्व ज्ञान प्राप्त कर लिया। बाद में वे 'हेमचन्द्र' कहलाए। 84 वर्ष की आयु में उन्होंने अनशनपूर्वक अन्त्याराधन क्रिया का शुभारम्भ किया और कुमार पाल को धर्मोपदेश देते हुए अपने ऐहिक शरीर का परित्याग कर दिया। आचार्य हेमचन्द्र का समाधि स्थल शत्रुंजय पहाड़ पर स्थित है, जो श्वेताम्बर तथा दिगम्बर दोनों परम्पराओं का तीर्थस्थल हो गया है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 1.2 1.3 1.4 सिंह, डॉ. लालन प्रसाद “96”, विश्व के प्रमुख दार्शनिक (हिन्दी)। भारतडिस्कवरी पुस्तकालय: वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग, नई दिल्ली, 684।
  2. (2-1-30)

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=हेमचन्द्र&oldid=606016" से लिया गया