सरकारी संग्रहालय उदयपुर  

सरकारी संग्रहालय उदयपुर
राजकीय संग्रहालय, उदयपुर
विवरण सिटी पैलेस काम्‍पलेक्‍स के पास 'करन विलास महल' में स्थित है।
राज्य राजस्थान
नगर उदयपुर
स्थापना 1873
प्रसिद्धि खुदाई वस्तुएँ, शिलालेख, मूर्तियां, चित्रकारी
खुलने का समय प्रात: 10.00 बजे से 4.30 बजे तक
अन्य जानकारी यह संग्रहालय खुदाई से प्राप्त वस्तुओं, शिलालेख, मूर्तियों, चित्रकारी और हस्तशिल्प कला के नमूनों के लिए प्रसिद्ध है।

सरकारी अथवा राजकीय संग्रहालय, उदयपुर राजस्थान के सिटी पैलेस काम्‍पलेक्‍स के पास 'करन विलास महल' में स्थित है। पहले ये गुलाब बाग़ में स्थित था और इसे 'विक्टोरिया हॉल' कहा जाता था।

स्थापना

महाराणा शम्भूसिंह के काल में 1873 ई. में कर्नल हैचिंसन की सलाह पर इतिहास का महकमा स्थापित हुआ। परंतु सज्जनसिंह के शासन काल (1874-1984 ई.) में श्यामलदास के काल में इसका विकास अधिक हुआ। महाराणा फ़तहसिंह ने 1887 ई. में विक्टोरिया हॉल का निर्माण सज्जन निवास में करवाया और 1890 ई. के नवम्बर में संग्रहालय और पुस्तकालय स्थापित किया गया। 1968 ई. में इसे राजमहल के कर्ण विलास में स्थानांतरित कर दिया गया और प्रताप संग्रहालय नाम रखा गया, जो वर्तमान में राजकीय संग्रहालय, उदयपुर के नाम से जाना जाता है।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. धरोहर राजस्थान सामान्य ज्ञान |लेखक: कुँवर कनक सिंह राव |प्रकाशक: पिंक सिटी पब्लिशर्स, जयपुर |संकलन: भारतकोश पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: डी-52 |

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=सरकारी_संग्रहालय_उदयपुर&oldid=511002" से लिया गया