संतरा  

संतरे

संतरा एक स्वास्थ्यवर्धक फल है। संतरा को नारंगी भी कहा जाता हैं और अंग्रेज़ी में ऑरेंज कहते हैं। संतरा विटामिनों से भरपूर है। संतरा ठंडा, शक्तिवर्द्धक, अम्ल, मीठा, स्वादिष्ट, खट्टा-मीठा, क्षुधावर्द्धक (भूख का बढ़ना) है। गर्मी में इसकी ख़पत सबसे ज़्यादा होती है। गर्मी से रक्षा के लिए संतरा एक लोकप्रिय फल है। संतरे के सेवन से शरीर स्वस्थ रहता है, चुस्ती-फुर्ती बढ़ती है, त्वचा में निखार आता है तथा सौंदर्य में वृद्धि होती है। यह पाचन में अत्यंत लाभकारी होता हैं। संतरा ख़ून को साफ़ करता है। संतरे के रस या इससे बनाया गया मार्मेलेड ज़्यादा पौष्टिक है। संतरा तन और मन को प्रसन्नता देने वाला फल है। व्रत और सभी रोगों में संतरा खाया जाता है।

भारत में संतरा

भारत में नागपुर व झालावाड़ में बड़े पैमाने पर संतरे की खेती होती है।

पौष्टिक तत्व

संतरे में प्रचुर मात्रा में विटामिन सी होता है। इसमें विटामिन 'सी', 'ए', 'बी' के अलावा फॉस्फोरस, कैल्सियम, प्रोटीन और ग्लूकोज़ भी पाया जाता है। लोहा और पोटेशियम भी काफ़ी होता है। संतरे की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसमें विद्यमान फ़्रुक्टोज़, डेक्स्ट्रोज़, खनिज एवं विटामिन शरीर में पहुंचते ही ऊर्जा देना प्रारंभ कर देते हैं।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. संतरा सेहत का मन्त्र (एच टी एम एल) एलो वेरा प्रॉडक्ट्स। अभिगमन तिथि: 22 अगस्त, 2010
  2. संतरा (हिन्दी) जनकल्याण। अभिगमन तिथि: 22 अगस्त, 2010
और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=संतरा&oldid=515417" से लिया गया