संगारेड्डी  

संगारेड्डी मेदक ज़िला, आंध्र प्रदेश का ऐतिहासिक स्थान। यह हैदराबाद से 37 मील की दूरी पर स्थित है।[1]

  • इस नगर के चारों ओर आंध्र प्रदेश के प्रचीन राजवंश के नरेश सदाशिव रेड्डी द्वारा बनवाई हुई प्राचीर स्थित है।
  • संगारेड्डी नगर का नाम सदाशिव रेड्डी ने अपने पुत्र संगा रेड्डी के नाम पर रखा था।
  • यहाँ स्थित श्री रामस्वामी का प्रसिद्ध मंदिर उल्लेखनीय है।
  • इस तालुके में प्रागैतिहासिक काल के समाधि स्थल, मिट्टी की मूर्तियां, पत्थर तथा लोहे के औज़ार, रोम के सम्राटों तथा आंध्र नरेशों के सिक्के, मिट्टी के बर्तन तथा मुद्राएं और हाथी दांत, अस्थि, शीशे तथा कीमती पत्थरों की बनी वस्तुएँ प्राप्त हुईं हैं।
  • उपरोक्त वस्तुओं के अतिरिक्त भी एक स्तूप, चैत्य बिहार तथा भट्टियों और निर्माणियों के खंडहर भी काफ़ी संख्या में यहाँ से प्राप्त हुए हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |संकलन: भारतकोश पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 927 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=संगारेड्डी&oldid=503501" से लिया गया