Notice: Undefined offset: 0 in /home/bharat/public_html/gitClones/live-development/bootstrapm/Bootstrapmskin.skin.php on line 41
शेरसिंह (रणजीत सिंह पुत्र) - भारतकोश, ज्ञान का हिन्दी महासागर

शेरसिंह (रणजीत सिंह पुत्र)  

शेरसिंह पंजाब के महाराज रणजीत सिंह (1801-1839 का तीसरा पुत्र था। अपने दोनों बड़े भाइयों की मृत्यु के बाद शेरसिंह 1840 ई. में सिंहासनासीन हुआ था।

  • रणजीत सिंह के उपरान्त उनका ज्येष्ठ पुत्र 'खड़क सिंह' और उसके बाद दूसरा पुत्र 'नौनिहाल सिंह' शासक हुए।
  • इन दोनों की मृत्यु हो जाने के उपरांत शेरसिंह राज्य का अधिकारी नियुक्त कर दिया गया था।
  • रणजीत सिंह की मृत्यु के बाद से ही पंजाब में अराजकता का माहौल था।
  • अंग्रेज़ पहले से ही राज्य पर अपनी ललचायी नज़रें गड़ाये हुए थे।
  • शेरसिंह केवल तीन वर्ष ही राज्य का शासन कर पाया।
  • 1843 ई. में उसकी हत्या कर दी गई।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=शेरसिंह_(रणजीत_सिंह_पुत्र)&oldid=235054" से लिया गया