शिब्बनलाल सक्सेना  

शिब्बनलाल सक्सेना (जन्म- 1 जनवरी, 1907 आगरा) स्वतंत्रता सेनानी एवं राजनीतिज्ञ थे।

परिचय

स्वतंत्रता सेनानी और उत्तर प्रदेश के सार्वजनिक कार्यकर्ता शिब्बनलाल सक्सेना का जन्म 1 जनवरी, 1907 ई. को आगरा में हुआ था। आगरा और इलाहाबाद विश्वविद्यालय में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के बाद वे कुछ समय तक गोरखपुर के एक कॉलेज में अध्यापक रहे। शिब्बनलाल सक्सेना आरंभ से ही कांग्रेस में सम्मिलित हो गए थे। 1928 से 1951 तक वे अखिल भारतीय कांग्रेस के सदस्य रहे। फिर वे 'प्रजा सोशलिस्ट पार्टी' के अध्यक्ष बने। बाद में सोशलिस्ट पार्टी में गए और कुछ वर्षों के लिए पुन: कांग्रेस में आने के बाद उन्होंने उत्तर प्रदेश समाजवादी पार्टी नाम का अपना अलग संगठन बना लिया।[1]

गतिविधियाँ

शिब्बनलाल सक्सेना ने कृषकों तथा श्रमिकों के उत्थान के लिये बहुत प्रयास किये। वे किसानों के बीच काम करने वालों में अग्रणी थे। उन्होंने कई शिक्षा संस्थाएं स्थापित कराईं और कृषकों तथा श्रमिकों की समस्याओं के संबंध में अनेक प्रकाशन किये। सक्सेना दो बार उत्तर प्रदेश की विधानसभा के और 1946 से 1950 तक संविधान परिषद के सदस्य रहे। 1964 से 1971 तक वे लोकसभा के सदस्य थे।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. भारतीय चरित कोश |लेखक: लीलाधर शर्मा 'पर्वतीय' |प्रकाशक: शिक्षा भारती, मदरसा रोड, कश्मीरी गेट, दिल्ली |पृष्ठ संख्या: 841 |

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=शिब्बनलाल_सक्सेना&oldid=633489" से लिया गया