शहीद स्मारक माल रोड़ मेरठ  

शहीद स्मारक मेरठ के मालरोड पर स्थित है। शहीद स्मारक पर स्थापित मूर्ति 1857 में भारत की आज़ादी हेतु महासंग्राम के अन्तर्गत लड़ी गयी लड़ाई को परिभाषित करती है।

  • यह केवल सिपाहियों का विद्रोह मात्र नहीं था, बल्कि एक ऐसा युद्ध था जिसमें अंग्रेजी सेना में कार्यरत भारतीय सिपाहियों तथा भारत के शहरों से लेकर ग्रामीण आँचलों के योद्धाओं ने एक जुट होकर अंग्रेजी साम्राज्य से लोहा लिया था।
  • इस मूर्ति में एक भारतीय सैनिक अंग्रेजी फ़ौज की वर्दी में तथा दूसरा साधारण भारतीय नागरिक को एक साथ आक्रामक मुद्रा में दिखाया गया है।
  • इनकी पोशाक इत्यादि को 1857 के अभिलेखों में उपलब्ध रेखचित्रों से लिया गया है।
  • इस मूर्ति के नीचे तीन शिलालेख हैं। जिसका विवरण इस प्रकार है -
  1. पूर्वीलेख में उन 85 सिपाहियों के नाम हैं जिन्होंने 24 अप्रैल 1857 को मेरठ में चर्बीयुक्त कारतूसों के प्रयोग से इंकार किया था।
  2. पश्चिमी लेख में उन कुछ गांवों के नाम लिखे हैं जो अंग्रेजी अभिलेखों में बागी गांव थे।
  3. दक्षिणी लेख में 1857 की क्रांन्ति का संक्षित विवरण है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=शहीद_स्मारक_माल_रोड़_मेरठ&oldid=268873" से लिया गया