विश्व हिंदी सचिवालय  

विश्व हिंदी सचिवालय
विश्व हिंदी सचिवालय
विवरण 'विश्व हिंदी सचिवालय' वैश्विक स्तर पर हिंदी के प्रचार-प्रसार में संलग्न भारत और मॉरीशस सरकार की एक द्विपक्षीय संस्था है।
मुख्यालय फ़ॉरेस्ट साइड, क्युर्पिप, मॉरीशस
शिलान्यास 1 नवंबर, 2001
कार्यारंभ 11 फ़रवरी, 2008
सदस्य भारत, मॉरीशस, फ़िजी, सूरीनाम, नेपाल
प्रशासनिक भाषा हिन्दी
संबंधित लेख विश्व हिन्दी सम्मेलन, विश्व हिंदी डेटाबेस, भारत, मॉरीशस, हिन्दी
अन्य जानकारी 1975 में नागपुर में आयोजित प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन के दौरान एक विश्व हिंदी केंद्र की स्थापना का विचार मॉरीशस के तत्कालीन प्रधानमंत्री व प्रतिनिधि मंडल के अध्यक्ष सर शिवसागर रामगुलाम द्वारा प्रस्तुत किया गया था।

विश्व हिंदी सचिवालय (अंग्रेज़ी: World Hindi Secretariat) मॉरीशस के मोका गाँव में स्थित है। सचिवालय 11 फ़रवरी, 2008 से कार्यरत है। हिन्दी का एक अन्तर्राष्ट्रीय भाषा के रूप में संवर्द्धन करने और विश्व हिन्दी सम्मेलनों के आयोजन को संस्थागत व्यवस्था प्रदान करने के उद्देश्य से विश्व हिन्दी सचिवालय की स्थापना का निर्णय लिया गया था। सचिवालय की एक शासी परिषद तथा एक कार्यकारी मंडल है। विश्व हिन्दी सचिवालय के महासचिव इसके मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। भारत सरकार तथा मॉरीशस की सरकार के बीच सम्पन्न द्विपक्षीय करार के अनुसार विश्व हिन्दी सचिवालय का प्रथम महासचिव मॉरीशस से होगा और इसका कार्यकाल 3 वर्ष का होगा। भारत सरकार तथा मॉरीशस की सरकार के बीच सम्पन्न द्विपक्षीय करार के अनुसार विश्व हिन्दी सचिवालय का प्रथम उपमहासचिव भारत से होगा और इनका कार्यकाल 3 वर्ष का होगा।

स्थापना

1975 में नागपुर में आयोजित प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन के दौरान एक विश्व हिंदी केंद्र की स्थापना का विचार मॉरीशस के तत्कालीन प्रधानमंत्री व प्रतिनिधि मंडल के अध्यक्ष सर शिवसागर रामगुलाम द्वारा प्रस्तुत किया गया था। इस विचार ने दृढ़ संकल्प का रूप धारण किया। मॉरीशस में आयोजित द्वितीय विश्व हिंदी सम्मेलन में और लगातार कई विश्व हिंदी सम्मेलनों में मंथन के बाद मॉरीशस में विश्व हिंदी सचिवालय की स्थापना का विचार साकार हुआ। भारत सरकार व मॉरीशस सरकार के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए तथा मॉरीशस की विधान सभा में अधिनियम पारित किया गया।[1]

अप्रैल, 1996 में त्रिनिदाद व टोबैगो में हुए 5वें विश्व हिंदी सम्मेलन के बाद मॉरीशस सरकार ने विश्व हिंदी सचिवालय के निर्माण से संबंधित कार्यों के लिए डॉ. श्रीमती सरिता बुधु को शिक्षा व वैज्ञानिक अनुसंधान मंत्रालय में सलाहकार के रूप में नियुक्त किया। जून, 1996 में भारतीय उच्चायोग के माध्यम से भारत सरकार के सहयोग के साथ मॉरीशस में शिक्षा व वैज्ञानिक अनुसंधान मंत्रालय में विश्व हिंदी सचिवालय की एक इकाई का गठन किया गया।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 1.2 विश्व हिंदी सचिवालय की स्थापना (हिंदी) vishwahindi.com। अभिगमन तिथि: 09 अगस्त, 2018।
  2. विश्व हिंदी सचिवालय का सफरनामा (हिंदी) vishwahindi.com। अभिगमन तिथि: 09 अगस्त, 2018।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=विश्व_हिंदी_सचिवालय&oldid=634374" से लिया गया