विश्व मलेरिया दिवस  

विश्व मलेरिया दिवस
'विश्व मलेरिया दिवस' का लोगो
विवरण 'विश्व मलेरिया दिवस' पूरे विश्व में '25 अप्रैल' को मनाया जाता है। 'मलेरिया' जैसी गम्भीर बीमारी की ओर लोगों का ध्यान आकृष्ट करने के लिए इस दिवस को मनाया जाता है।
तिथि 25 अप्रैल
शुरुआत 2008
क्या है 'मलेरिया' यह एक प्रकार का बुखार है, जिसमें बुखार ठण्‍ड (कंपकपी) के साथ आता है। यह बुखार मुख्यत: संक्रमित मादा एनाफ़िलीज मच्‍छर द्वारा काटने पर होता है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट 'विश्व स्वास्थ्य संगठन' के आंकड़ों के अनुसार दुनिया में हर वर्ष क़रीब 50 करोड़ लोग मलेरिया से पीड़ित होते हैं; जिनमें क़रीब 27 लाख रोगी जीवित नहीं बच पाते, जिनमें से आधे पाँच साल से कम के बच्चे होते हैं।
विशेष भारत के सात राज्यों- आंध्र प्रदेश, बिहार, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, उड़ीसा और राजस्थान में मलेरिया पर नियंत्रण के लिए सरकार ने विश्व बैंक की मदद से सितम्बर, 1997 से 'परिष्कृत मलेरिया नियंत्रण कार्यक्रम' की शुरुआत की है।
संबंधित लेख डेंगू
अन्य जानकारी मलेरिया एक वैश्विक जन-स्वास्थ्य समस्या है। 'विश्व स्वास्थ्य संगठन' का कहना है कि हर साल मलेरिया के कारण विश्व में हो रही मौतों की ओर लोगों का ध्यान खींचने के लिए '25 अप्रैल' को 'विश्व मलेरिया दिवस' के रूप में मनाया जा रहा है।

विश्व मलेरिया दिवस (अंग्रेज़ी: World Malaria Day) सम्पूर्ण विश्व में '25 अप्रैल' को मनाया जाता है। 'मलेरिया' एक जानलेवा बीमारी है, जो मच्छर के काटने से फैलती है। इस बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को यदि सही समय पर उचित इलाज तथा चिकित्सकीय सहायता न मिले तो यह जानलेवा सिद्ध होती है। मलेरिया एक ऐसी बीमारी है, जो हज़ारों वर्षों से मनुष्य को अपना शिकार बनाती आई है। विश्व की स्वास्थ्य समस्याओं में मलेरिया अभी भी एक गम्भीर चुनौती है। पिछले दो दशकों में हुए तीव्र वैज्ञानिक विकास और मलेरिया के उन्मूलन के लिए चलाए गए वैश्विक कार्यक्रमों के बावजूद इस जानलेवा बीमारी के आंकड़ों में कमी तो आई है, लेकिन अभी भी इस पर पूरी तरह नियंत्रण नहीं पाया जा सका है।

शुरुआत

हर दिन का अपना एक ख़ास महत्त्व होता है। फिर चाहे वह खुशी का दिन हो या दु:ख का। 'विश्व मलेरिया दिवस' एक ऐसा ही दिन है, जिसे पहली बार '25 अप्रैल, 2008' को मनाया गया था। यूनिसेफ़ द्वारा इस दिन को मनाने का उद्देश्य मलेरिया जैसे ख़तरनाक रोग पर जनता का ध्यान केंद्रित करना था, जिससे हर साल लाखों लोग मरते हैं। इस मुद्दे पर 'विश्व स्वास्थ्य संगठन' का कहना है कि मलेरिया नियंत्रण कार्यक्रम चलाने से बहुत-सी जानें बचाई जा सकती हैं।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. विश्व मलेरिया दिवस (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 24 अप्रैल, 2014।
  2. विश्व मलेरिया दिवस (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 24 अप्रैल, 2014।
  3. मलेरिया अभी भी एक गम्भीर चुनौती (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 24 अप्रैल, 2014।
  4. विश्व मलेरिया दिवस (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 24 अप्रैल, 2014।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=विश्व_मलेरिया_दिवस&oldid=626309" से लिया गया