विलियम हॉकिंस  

(विलियम हाकिंस से पुनर्निर्देशित)


  • विलियम हॉकिंस ईस्ट इंडिया कम्पनी का एक कर्मचारी तथा व्यापारी था।
  • वह फ़ारसी भाषा का बहुत अच्छा जानकार था।
  • हॉकिंस, 'हेक्टर' नामक जहाज़ पर सवार होकर पूर्व की ओर ईस्ट इण्डिया कम्पनी की तीसरी यात्रा का संचालक था।
  • बादशाह जहाँगीर के नाम इंग्लैण्ड के राजा 'जेम्स प्रथम' का पत्र लेकर वह 1608 ई. में भारत के सूरत में पहुँचा।
  • हॉकिन्स स्थल मार्ग से मुग़ल दरबार में गया और जहाँगीर से भेंट की।
  • वह मुग़ल दरबार में 1613 ई. तक रहा।
  • जहाँगीर उससे अक्सर मिला करता था और उसने हॉकिन्स को 400 सवारों का मनसबदार बना दिया था।
  • हॉकिन्स को जहाँगीर ने 'ख़ान' की उपाधि देकर सम्मानित किया था।
  • बादशाह के कहने से हॉकिंस ने एक 'आरमेनियाई' ईसाई लड़की से विवाह कर लिया।
  • उसने अंग्रेज़ों को कुछ व्यापार सम्बन्धी सुविधाएँ देने के लिए बादशाह को अंग्रेज़ों के अनुकूल बना लिया।
  • पुर्तग़ालियों के विरोध के कारण हॉकिन्स की योजनाओं पर अमल नहीं हो सका।
  • हॉकिन्स 1613 ई. में मुग़ल दरबार से चला गया और वापस इंग्लैण्ड पहुँच गया।
  • उसने भारत की यात्रा का वर्णन अपनी पुस्तक में लिखा है।
  • उसने बादशाह की सम्पत्ति तथा उसके दरबारी क़ानूनों का उल्लेख किया है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=विलियम_हॉकिंस&oldid=191088" से लिया गया