वर्साय की संधि  

वर्साय की संधि 28 जून, 1919 ई. को हुई थी। यह संधि प्रथम विश्व युद्ध के अन्त में जर्मनी और गठबन्धन देशों- ब्रिटेन, फ़्राँस, अमरीका तथा रूस आदि के बीच में हुई।

  • प्रथम विश्व युद्ध में जर्मनी की पराजय हुई और उसने 28 जून, 1919 के दिन 'वर्साय की सन्धि' पर हस्ताक्षर किये।
  • इस संधि के परिणामस्वरूप जर्मनी को अपनी भूमि के एक बड़े हिस्से से हाथ धोना पड़ा। दूसरे राज्यों पर उसके द्वारा अधिकार करने पर पाबन्दी लगा दी गयी। उनकी सेना का आकार सीमित कर दिया गया और भारी क्षतिपूर्ति थोप दी गयी।
  • वर्साय की सन्धि को जर्मनी पर जबरदस्ती थोपा गया था। इस कारण एडोल्फ हिटलर और अन्य जर्मन लोग इसे अपमानजनक मानते थे। यही कारण था कि यह सन्धि द्वितीय विश्व युद्ध के कारणों में से एक थी।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=वर्साय_की_संधि&oldid=520136" से लिया गया