वरसाड आन्दोलन  

वरसाड आन्दोलन (1923-1924 ई.) का संचालन सरदार वल्लभ भाई पटेल के नेतृत्व में गुजरात में किया गया था। अंग्रेज़ ब्रिटिश सरकार द्वारा लगाये गए 'डकैती कर' के विरोध में इस आन्दोलन का संचालन किया गया था।

  • डकैतियों का कहर दबाने के लिए पुलिस व्यवस्था करने के उद्देश्य से सरकार ने सितम्बर, 1923 ई. में वरसाड के प्रत्येक वयस्क व्यक्ति पर दो रुपये, सात आने का कर लगाने की घोषण कर दी।
  • इस कर के विरोध में एक आन्दोलन का सूत्रपात किया गया।
  • दिसम्बर, 1923 ई. तक इस आन्दोलन ने काफ़ी उग्र रूप धारण कर लिया।
  • सभी 104 प्रभावित गाँवों ने नये कर की अदायगी न करने का निर्णय लिया।
  • अतः 7 फ़रवरी, 1924 ई. को ब्रिटिश सरकार ने इस कर को समाप्त कर दिया।
  • 'वरसाड आन्दोलन' को हार्डिमन ने ग्रामीण गुजरात में पहला सफल 'गाँधीवादी सत्याग्रह' कहा है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=वरसाड_आन्दोलन&oldid=271466" से लिया गया