लॉर्ड रीडिंग  

  • लॉर्ड रीडिंग 1921 ई. से 1926 ई. तक भारत का वाइसराय रहा था।
  • 1921 ई. में वाइसराय बने लॉर्ड रीडिंग के समय में गाँधी जी का भारतीय राजनीति में पूर्णरूप से प्रवेश हो चुका था।
  • गाँधी जी द्वारा चलाया गया पहला असहयोग आंदोलन लॉर्ड रीडिंग के समय में ही समाप्त हुआ।
  • उसके समय में 'प्रिंस ऑफ़ वेल्स' ने नवम्बर, 1921 ई. में भारत की यात्रा की थी।
  • इस दिन पूरे भारत में हड़ताल का आयोजन किया गया था।
  • 1921 ई. में ही भारत के दक्षिणी पश्चिमी समुद्र तट पर 'गोपला विद्रोह' हुआ।
  • लॉर्ड रीडिंग के समय में 1922 ई. में 'विश्व भारतीय विश्वविद्यालय' ने कार्य करना आरम्भ किया।
  • 1923 ई. से 1925 ई. मे मध्य मुल्तान, अमृतसर, दिल्ली, अलीगढ़ एवं कलकत्ता (वर्तमान कोलकाता) में साम्प्रदायिकता की भयानक लहर फैली।
  • इसके समय में ही 'एम.एन.राय' द्वारा 1921 ई. में 'भारीय कम्युनिस्ट पार्टी' का गठन किया गया।
  • दिसम्बर, 1925 ई. में प्रसिद्ध आर्य समाजी राष्ट्रवादी नेता 'स्वामी सहजानंद' की हत्या कर दी गई।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=लॉर्ड_रीडिंग&oldid=187520" से लिया गया