लॉर्ड मेयो  

लॉर्ड मेयो
  • लारेन्स के बाद लॉर्ड मेयो 1869 ई. में भारत का वायसराय बनकर भारत आया।
  • अफ़गानिस्तान के सन्दर्भ में उसने सर जॉन लारेन्स की नीति का समर्थन किया।
  • मेयों ने भारत में वित्तीय विकेन्द्रीकरण की नति की शुरुआत की।
  • उसने बजट घाटे को कम किया, आयकर की दर को 1 प्रतिशत से बढ़ाकर 2.5 प्रतिशत कर दिया।
  • लॉर्ड मेयो ने कुछ स्थानों जैसे बम्बईमद्रास में नमक कर में वृद्धि कर दी।
  • काठियावाड़ एवं अलवर को इसने भ्रष्टाचार एवं कुशासन के आधार पर दण्डित किया।
  • मेयो ने भारतीय राजाओं के पुत्रों की उचित शिक्षा के लिए अजमेर में 'मेयो कॉलेज' की स्थापना की और 1872 ई. में उसने कृषि विभाग की स्थापना की।
  • 1872 ई. में ही एक अफ़ग़ान ने उसकी चाकू मारकर अण्डमान में हत्या कर दी।
  • लॉर्ड मेयो प्रथम भारतीय गवर्नर-जनरल था, जिसकी हत्या उसके ऑफ़िस में की गयी।
  • मेयो के शासन काल में 1872 ई. में प्रायोगिक जनगणना करवाई गयी, जो लॉर्ड रिपन के काल में 1881 से नियमित रूप से शुरू हुई।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=लॉर्ड_मेयो&oldid=245826" से लिया गया