लैटेराइट मिट्टी  

लैटेराइट मिट्टी

लैटेराइट मिट्टी उष्ण कटिबन्धीय प्रदेशों में पायी जाती है। यह मिट्टी प्राय: उन उष्ण कटिबन्धीय प्रदेशों में पायी जाती हैं, जहाँ ऋतुनिष्ठ वर्षा होती है। इस मिट्टी का रंग लाल होता है, लेकिय यह 'लाल मिट्टी' से अलग होती है। यह मिट्टी अम्लीय होती है, जिसका PH मान 4.0-5.0 तक होता है। लैटेराइट मिट्टी 'कहवा' एवं 'काजू' उत्पादन के लिए उपयोगी है। लैटेराइट मिट्टी में चावल, कपास, मोटे अनाज, गेहूँ, चाय, कहवा, रबड़ तथा सिनकोना आदि पैदा होते हैं।

प्राप्ति स्थान

लैटेराइट मिट्टी भारी वर्षा और ऊँचे तापमान वाले इलाकों में पाई जाती है। इस मिट्टी का विस्तार मुख्यतः दक्षिणी प्रायद्वीपीय पठारी क्षेत्र के उच्च भागों में हुआ है। इसके प्रमुख क्षेत्र हैं - मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, पूर्वी तथा पश्चिमी घाट पहाड़ों के समीपवर्ती क्षेत्र, बिहार में राजमहल की पहाड़ियाँ, कर्नाटक, केरल, उड़ीसा तथा असम राज्य के कुछ भाग। इस मिट्टी का सर्वाधिक विस्तार केरल राज्य में पाया जाता हे।

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=लैटेराइट_मिट्टी&oldid=527748" से लिया गया