लीची  

लीची

लीची भारत में पाया जाने वाला एक फल है। लीची का वैज्ञानिक नाम लीची चाइनेन्सिस है। लीची सैपिन्डेसी परिवार का एक महत्त्वपूर्ण सदस्य है जिसकी उत्पत्ति चीन में हुई, इसके फल अपने आकर्षक रंग स्वाद और गुणवत्ता के कारण विश्वविख्यात है। भारत एवं चीन दोनों मिलकर विश्व लीची उत्पादन को 91 प्रतिशत का उत्पादन करते हैं परन्तु यह स्थानीय रूप में बेचा जाता है। भारत में लीची फल के बीच क्षेत्रफल में 7वाँ और उत्पादन में 9वाँ स्थान रखती है परन्तु मूल्य के सम्बन्ध में छठा स्थान रखती है। लीची का फल स्वादिष्ट, सुगन्धित, मीठा, रसीला एवं मोतिया सफ़ेद रंग के गूदे से युक्त होता है जो विटामित 'सी' का अच्छा स्रोत है। लीची छोटे आकार का और पतले लेकिन छोटे, मोटे और नरम काँटों से भरे छिलके वाला फल है। लीची का छिलका पहले लाल रंग का होता है और अच्छी तरह पक जाने पर थोड़े गहरे रंग का हो जाता है। अन्दर खूब मुलायम पारदर्शी से सफ़ेद रंग का मोती की तरह चमकदार गूदा होता है जो स्वादिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक होता है। इस गूदे के अंदर गहरे भूरे रंग का एक बड़ा बीज होता है जो खाने के काम नहीं आता। इसका स्वाद थोड़ा गुलाब और अंगूर से मिलता जुलता पर अनोखा ज़रूर है।

लीची का विकास

लीची एक सदाबहार, उपोष्ण कटिबन्धीय फल है जिसका मूल निवास स्थान दक्षिणी चीन को माना जाता है। भारत में इस पौधे का आगमन म्यान्मार से होते हुए उत्तरी पूर्वी राज्यों जैसे त्रिपुरा में हुआ।

लीची

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. लीची (हिन्दी) उत्तरा कृषि प्रभा। अभिगमन तिथि: 22 अगस्त, 2010
  2. लीची: अनुसंधान और विकास की मिठास (हिन्दी) नई दिशाएँ। अभिगमन तिथि: 22 अगस्त, 2010
और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=लीची&oldid=266895" से लिया गया