ललित कला अकादमी  

ललित कला अकादमी
ललित कला अकादमी, दिल्ली की कला दीर्घा
अन्य नाम नेशनल अकादमी ऑफ़ आर्टस
उद्देश्य भारतीय कला के प्रति देश-विदेश में समझ बढ़ाने और प्रचार-प्रसार के लिए।
स्थापना 5 अगस्त 1954
संस्थापक भारत सरकार
मुख्यालय रविन्द्र भवन, नई दिल्ली
संबंधित लेख राज्य ललित कला अकादमी, उत्तर प्रदेश राज्य ललित कला अकादमी
क्षेत्रीय केंद्र भुवनेश्वर, चेन्नई, गढ़ी (दिल्ली), कोलकाता, लखनऊ
अन्य जानकारी प्रदर्शनी कार्यक्रम के अंतर्गत राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी का आयोजन और विदेशों में भारतीय कला की प्रदर्शनी का आयोजन, दोनों की व्यवस्था संस्था करती है जो सामयिक और प्रासंगिक दोनों ही प्रकार के विषयों पर आधारित होती है।
बाहरी कड़ियाँ आधिकारिक वेबसाइट

ललित कला अकादमी (अंग्रेज़ी: Lalit Kala Akademi) स्वतंत्र भारत में गठित एक स्वायत्त संस्था है जो 5 अगस्त 1954 को भारत सरकार द्वारा स्थापित की गई। यह एक केंद्रीय संगठन है जो भारत सरकार द्वारा ललित कलाओं के क्षेत्र में कार्य करने के लिए स्थापित किया गया था, यथा मूर्तिकला, चित्रकला, ग्राफकला, गृहनिर्माणकला आदि।

उद्देश्य

भारतीय कला के प्रति देश-विदेश में समझ बढ़ाने और प्रचार-प्रसार के लिए भारत सरकार ने नई दिल्ली में 1954 में 'राष्ट्रीय ललित कला अकादमी' (नेशनल अकादमी ऑफ़ आर्टस) की स्थापना की थी। इसके लिए यह अकादमी प्रकाशनों, कार्यशालाओं तथा शिविरों का आयोजन करती है। यह प्रतिवर्ष एक अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनी तथा प्रत्येक तीसरे वर्ष 'त्रैवार्षिक भारत' नामक एक अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनी भी आयोजित करती है। अकादमी द्वारा प्रतिवर्ष डॉ. आनन्द कुमार स्वामी (1877-1947) की स्मृति में एक व्याख्यानमाला का आयोजन किया जाता है।
ललित कला अकादमी का प्रतीक चिह्न

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. गुप्ता, विनीता। ललित कला अकादमी के 50 वर्ष (हिन्दी) पञ्चजन्य डॉट कॉम। अभिगमन तिथि: 1 फ़रवरी, 2015।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=ललित_कला_अकादमी&oldid=590545" से लिया गया