रोहतांग दर्रा  

रोहतांग दर्रा
रोहतांग दर्रा
विवरण 'रोहतांग दर्रा' हिमाचल प्रदेश प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। यह मनाली को लेह से सड़क मार्ग द्वारा जोड़ता है।
स्थिति हिमाचल प्रदेश
ऊँचाई समुद्र तल से लगभग 4111 मीटर।
पर्वत शृंखला हिमालय की पीर पंजाल श्रेणी
कब जाएँ यह दर्रा वर्ष में मई के महीने में पर्यटकों के लिए खुल जाता है और सितम्बर में भारी बर्फबारी के कारण बंद कर दिया जाता है।
संबंधित लेख हिमाचल प्रदेश, मनाली, लेह
अन्य जानकारी रोहतांग दर्रे से मनाली का शानदार दृश्‍य दिखाई पड़ता है। मनाली से इसकी दूरी 51 कि.मी. है। यहां से पहाडों, सुंदर दृश्‍यों वाली भूमि और ग्‍लेशियर का शानदार दृश्‍य देखा जा सकता है।

रोहतांग दर्रा हिमालय (भारत) में स्थित एक प्रमुख दर्रा है। यह मनाली को लेह से सड़क मार्ग द्वारा जोड़ता है। यह दर्रा समुद्र तल से 4,111 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। इस दर्रे का पुराना नाम 'भृगु-तुंग' था, 'रोहतांग' नया नाम है। यहाँ पूरे साल बर्फ़ की चादर बिछी रहती है। रोहतांग दर्रा लाहोल और स्पीति ज़िलों का प्रवेश द्वार कहा जाता है। यह दर्रा मौसम में होने वाले अचानक बदलावों के लिए भी ज़िम्मेदार है।

स्थिति

समुद्र तल से लगभग 4,111 मीटर की ऊँचाई पर स्थित रोहतांग दर्रा मनाली को लेह से सड़क मार्ग द्वारा जोड़ता है। हिमाचल प्रदेश के लाहोल-स्पीति ज़िले का प्रवेश द्वारा कहा जाने वाला यह दर्रा कभी 'भृगु तुंग' के नाम से पुकारा जाता था। यह बौद्ध सांस्कृतिक विरासत के धनी लाहोल-स्पीति को हिन्दू सभ्यता वाले कुल्लू से प्राकृतिक रूप से बांटता है। मनाली से रोहतांग दर्रे तक पहुँचने के लिए क़रीब पचास किलोमीटर का सफर तय करना पड़ता है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. भारत में हिमालय के प्रमुख दर्रे (हिन्दी) वाइवेस पेनोरमा। अभिगमन तिथि: 23 नवम्बर, 2014।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=रोहतांग_दर्रा&oldid=571290" से लिया गया