तिरंगा  

(राष्ट्रीय ध्वज से पुनर्निर्देशित)


तिरंगा
तिरंगा
नाम तिरंगा
प्रयोग राष्ट्रीय ध्वज
अनुपात 2:3
अंगीकृत 22 जुलाई, 1947
रूपरेखा तिरंगे में सबसे ऊपर गहरा केसरिया, बीच में सफ़ेद और सबसे नीचे गहरा हरा रंग बराबर अनुपात में है। सफ़ेद पट्टी के केंद्र में गहरा नीले रंग का चक्र है। चक्र की परिधि लगभग सफ़ेद पट्टी की चौड़ाई के बराबर है। चक्र में 24 तीलियाँ हैं।
अभिकल्पनाकर्ता पिंगलि वेंकय्या
संबंधित लेख वन्दे मातरम्, राष्ट्रगान, स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस
विशेष सन् 1904 में स्वामी विवेकानन्द की शिष्या सिस्टर निवेदिता ने पहली बार एक ध्वज बनाया था, जिसे बाद में 'सिस्टर निवेदिता' ध्वज के नाम से जाना गया।
अन्य जानकारी हर 'स्वतंत्रता दिवस' और 'गणतंत्र दिवस' पर लाल क़िले की प्राचीर पर राष्ट्रीय ध्वज को बड़े ही आदर और सम्मान के साथ फहराया जाता है।

तिरंगा (अंग्रेज़ी: Tirangā) भारत का राष्ट्रीय ध्वज है, जो तीन रंगों से बना है, इसलिए इसे 'तिरंगा' कहते हैं। तिरंगे में सबसे ऊपर गहरा केसरिया, बीच में सफ़ेद और सबसे नीचे गहरा हरा रंग बराबर अनुपात में है। ध्‍वज को साधारण भाषा में झंडा भी कहा जाता है। झंडे की चौड़ाई और लम्‍बाई का अनुपात 2:3 है। सफ़ेद पट्टी के केंद्र में गहरा नीले रंग का चक्र है, जिसका प्रारूप अशोक की राजधानी सारनाथ में स्थापित सिंह के शीर्षफलक के चक्र में दिखने वाले चक्र की भांति है। चक्र की परिधि लगभग सफ़ेद पट्टी की चौड़ाई के बराबर है। चक्र में 24 तीलियाँ हैं। राष्‍ट्रीय ध्‍वज 22 जुलाई, 1947 को भारत के संविधान द्वारा अपनाया गया था।

रंगों का महत्त्व

तिरंगे में रंगों का क्या महत्त्व है, यह इस प्रकार है-

  • 'केसरिया' यानी 'भगवा रंग' वैराग्य का रंग है। हमारे आज़ादी के दीवानों ने इस रंग को सबसे पहले अपने ध्वज में इसलिए सम्मिलित किया, जिससे आने वाले दिनों में देश के नेता अपना लाभ छोड़ कर देश के विकास में खुद को समर्पित कर दें। जैसे भक्ति में साधु वैराग लेकर मोह-माया से हट भक्ति का मार्ग अपनाते हैं।
  • 'श्वेत रंग' प्रकाश और शांति के प्रतीक के रूप में लिया गया है।
  • 'हरा रंग' प्रकृति से संबंध और संपन्नता को दर्शाता है।
  • ध्वज के केंद्र में स्थित अशोक चक्र धर्म के 24 नियमों की याद दिलाता है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. वर्तमान कोलकाता
  2. भारतीय तिरंगे का इतिहास (हिन्दी) भास्कर डॉट ओ आर जी। अभिगमन तिथि: 11 अक्तूबर, 2010
  3. खंभे की ओर
  4. चौधरी, राजेश। तिरंगा फहराने के कायदे-क़ानून (हिन्दी) नवभारत टाइम्स। अभिगमन तिथि: 11 अक्तूबर, 2010

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=तिरंगा&oldid=634512" से लिया गया