रानी दुर्गावती  

रानी दुर्गावती
रानी दुर्गावती
पूरा नाम रानी दुर्गावती
जन्म 5 अक्टूबर, 1524
जन्म भूमि बांदा, उत्तर प्रदेश
मृत्यु 24 जून, 1564
मृत्यु स्थान अचलपुर, महाराष्ट्र
अभिभावक राजा कीर्तिराज
पति/पत्नी राजा दलपतशाह
कर्म भूमि भारत
प्रसिद्धि रानी, वीरांगना
विशेष योगदान रानी दुर्गावती ने अनेक मंदिर, मठ, कुएं, बावड़ी तथा धर्मशालाएं बनवाईं।
नागरिकता भारतीय
धर्म हिंदू
अन्य जानकारी जबलपुर में स्थित रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय भी इनके नाम पर बना है। रानी दुर्गावती ने अपनी दासी के नाम पर 'चेरीताल', अपने नाम पर 'रानीताल' तथा अपने विश्वस्त दीवान आधारसिंह के नाम पर 'आधारताल' बनवाया।

रानी दुर्गावती (अंग्रेज़ी: Rani Durgawati, जन्म: 5 अक्टूबर, 1524 - मृत्यु: 24 जून, 1564) गोंडवाना की शासक थीं, जो भारतीय इतिहास की सर्वाधिक प्रसिद्ध रानियों में गिनी जाती हैं। दुर्गावती ने 16 वर्ष तक जिस कुशलता से राज संभाला, उसकी प्रशस्ति इतिहासकारों ने की है। आइना-ए-अकबरी में अबुल फ़ज़ल ने लिखा है- "दुर्गावती के शासनकाल में गोंडवाना इतना सुव्यवस्थित और समृद्ध था कि प्रजा लगान की अदायगी स्वर्णमुद्राओं और हाथियों से करती थी।"

जीवन परिचय

वीरांगना महारानी दुर्गावती कालिंजर के राजा कीर्तिसिंह चंदेल की एकमात्र संतान थीं। महोबा के राठ गांव में 1524 ई. की दुर्गाष्टमी पर जन्म के कारण उनका नाम दुर्गावती रखा गया। नाम के अनुरूप ही तेज, साहस, शौर्य और सुन्दरता के कारण इनकी प्रसिद्धि सब ओर फैल गयी। दुर्गावती के मायके और ससुराल पक्ष की जाति भिन्न थी लेकिन फिर भी दुर्गावती की प्रसिद्धि से प्रभावित होकर राजा संग्राम शाह ने अपने पुत्र दलपतशाह से विवाह करके, उसे अपनी पुत्रवधू बनाया था। दुर्भाग्यवश विवाह के चार वर्ष बाद ही राजा दलपतशाह का निधन हो गया। उस समय दुर्गावती की गोद में तीन वर्षीय नारायण ही था। अतः रानी ने स्वयं ही गढ़मंडला का शासन संभाल लिया। उन्होंने अनेक मंदिर, मठ, कुएं, बावड़ी तथा धर्मशालाएं बनवाई। वर्तमान जबलपुर उनके राज्य का केन्द्र था। उन्होंने अपनी दासी के नाम पर चेरीताल, अपने नाम पर रानीताल तथा अपने विश्वस्त दीवान आधारसिंह के नाम पर आधारताल बनवाया।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

भारतीय इतिहास कोश |लेखक: सच्चिदानन्द भट्टाचार्य |प्रकाशक: उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान |पृष्ठ संख्या: 208 |

  1. 1.0 1.1 1.2 महारानी दुर्गावती (हिंदी) Save Hinduism। अभिगमन तिथि: 24 जून, 2013।
  2. 2.0 2.1 2.2 2.3 शौर्य और पराक्रम की शौर्यगाथा रानी दुर्गावती (हिंदी) जय जय भारत। अभिगमन तिथि: 24 जून, 2013।

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=रानी_दुर्गावती&oldid=611836" से लिया गया