राकेश शर्मा  

राकेश शर्मा
राकेश शर्मा
पूरा नाम राकेश शर्मा
जन्म 13 जनवरी, 1949
जन्म भूमि पटियाला (पंजाब)
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र भारतीय वायुसेना के पूर्व पायलट
भाषा हिन्दी, अंग्रेज़ी
पुरस्कार-उपाधि 'अशोक चक्र', 'हीरो ऑफ़ सोवियत यूनियन'
प्रसिद्धि भारत के प्रथम अंतरिक्ष यात्री
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी नवम्बर, 2006 में राकेश शर्मा 'भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन' (इसरो) की समिति में सदस्य रूप में शामिल थे।
अद्यतन‎

राकेश शर्मा (अंग्रेज़ी:Rakesh Sharma, जन्म:13 जनवरी, 1949 पटियाला, पंजाब) भारत के प्रथम अंतरिक्ष यात्री हैं। उन्हें अंतरिक्ष यान में उड़ने और पृथ्वी का चक्कर लगाने का अवसर 2 अप्रैल, 1984 में मिला था। वे विश्व के 138वें अंतरिक्ष यात्री हैं। स्क्वाड्रन लीडर राकेश शर्मा ने लो ऑर्बिट में स्थित सोवियत स्पेस स्टेशन की उड़ान भरी थी और सात दिन स्पेस स्टेशन पर बिताए थे। भारत और सोवियत संघ की मित्रता के गवाह इस संयुक्त अंतरिक्ष मिशन के दौरान राकेश शर्मा ने भारत और हिमालय क्षेत्र की फ़ोटोग्राफी भी की। भारतवासियों के लिए लिए वह गर्व का क्षण था, जब प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पूछने पर कि अंतरिक्ष से भारत कैसा लगता है, तब राकेश शर्मा ने कहा- 'सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्तान हमारा'।

जन्म और शिक्षा

राकेश शर्मा का जन्म 13 जनवरी, 1949 को पटियाला (पंजाब) में हिन्दू गौड़ परिवार में हुआ था। उन्होंने अपनी सैनिक शिक्षा हैदराबाद में ली थी। वे पायलट बनना चाहते थे। भारतीय वायुसेना द्वारा राकेश शर्मा टेस्ट पायलट भी चुन लिए गए थे, लेकिन ऐसा शायद ही किसी ने सोचा होगा कि वे भारत के पहले अंतरिक्ष यात्री बनेंगे। 20 सितम्बर, 1982 को 'भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन' (इसरो) ने उन्हें सोवियत संघ (उस वक्त) की अंतरिक्ष एजेंसी इंटरकॉस्मोस के अभियान के लिए चुन लिया।[1]
राकेश शर्मा

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 1.2 राकेश शर्मा (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 11 जनवरी, 2013।
  2. प्रथम भारतीय अन्तरिक्ष यात्री – राकेश शर्मा (हिंदी)। । अभिगमन तिथि: 7 जनवरी, 2012।

बाहरी कड़ियाँ

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=राकेश_शर्मा&oldid=530205" से लिया गया