मोहन लाल सुखाड़िया  

मोहन लाल सुखाड़िया
मोहन लाल सुखाड़िया
पूरा नाम मोहन लाल सुखाड़िया
जन्म 31 जुलाई, 1916
जन्म भूमि झालावाड़, राजस्थान
मृत्यु 2 फ़रवरी, 1982
मृत्यु स्थान बीकानेर, राजस्थान
अभिभावक पुरुषोत्तम लाल सुखाड़िया
पति/पत्नी इन्दुबाला सुखाड़िया
नागरिकता भारतीय
प्रसिद्धि राजनीतिज्ञ
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
पद मुख्यमंत्री
कार्य काल 13 नवम्बर, 1954 से 9 जुलाई, 1971
शिक्षा इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा
विद्यालय 'वीरमाता जीजाबाई टेक्नोलॉजीकल इंस्टीट्यूट', मुम्बई
संबंधित लेख राजस्थान, राजस्थान के मुख्यमंत्री
अन्य जानकारी सुखाड़िया जी सामाजिक प्रगति व परिवर्तन के ऐसे पुरोधा थे, जिन्होंने न केवल प्रगतिशीलता के लिए समाज में जागरूकता पैदा की, अपितु समाज व परिवार के घोर विरोध के बावजूद स्वयं के जीवन को जात-पाँत के बंधनों से मुक्त कर आदर्श प्रस्तुत किया।

मोहन लाल सुखाड़िया (अंग्रेज़ी: Mohan Lal Sukhadia ; जन्म- 31 जुलाई, 1916, झालावाड़, राजस्थान; मृत्यु- 2 फ़रवरी, 1982, बीकानेर) राजस्थान के प्रसिद्ध राजनीतिज्ञों में से एक थे। उन्हें "आधुनिक राजस्थान का निर्माता" भी कहा जाता है। मोहन लाल सुखाड़िया सबसे लम्बे समय तक राजस्थान के मुख्यमंत्री रहे थे।

जन्म

मोहन लाल सुखाड़िया का जन्म 31 जुलाई, 1916 को राजस्थान के झालावाड़ में हुआ था। वे एक जैन परिवार से सम्बंध रखते थे। उनके पिता का नाम पुरुषोत्तम लाल सुखाड़िया था, जो बम्बई (आधुनिक मुम्बई) और सौराष्ट्र के अच्छे क्रिकेटरों में गिने जाते थे।

शिक्षा

राजस्थान के नाथद्वारा और उदयपुर में प्राथमिक शिक्षा पूरी करने के बाद मोहन लाल सुखाड़िया 'वी.जे.टी.आई.' (वीरमाता जीजाबाई टेक्नोलॉजीकल इंस्टीट्यूट) से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा के लिए मुंबई के लिए चले गए। वहाँ वह छात्र संगठन के महासचिव चुने गए।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. मोहन लाल सुखाड़िया जी के जीवन के अनुछुए पहलू (हिन्दी) राजस्थान स्टडी। अभिगमन तिथि: 14 मार्च, 2015।
और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मोहन_लाल_सुखाड़िया&oldid=634103" से लिया गया