मालती जोशी  

मालती जोशी (जन्म- 1934, औरंगाबाद, पूर्व हैदराबाद रियासत, वर्तमान महाराष्ट्र) आधुनिक समय की महिला कहानीकार और उपन्यासकार हैं। उनकी उच्च शिक्षा आगरा में हुई थी। मालती जोशी के पिता तत्कालीन ग्वालियर राज्य के जज थे। बतौर मालती जोशी के अनुसार- "पिता में सामाजिक समस्याओं एवं मुद्दों को लेकर जो विचार थे, भले ही वे कहानी एवं उपन्यास की शक्ल नहीं ले पाए, लेकिन उनका अनुवांशिक असर मुझ पर पड़ा और मैं लेखन में आ गई।" उनकी ज्यादातर कहानियों का केंद्रीय विषय मध्यम वर्ग है।

लेखन कार्य

मालती जी ने अब तक 42 पुस्तकें लिखी हैं, जिसमें उपन्यास, कहानी संग्रह, बालकथा संग्रह, गीत संग्रह, व्यंग्य संग्रह आदि शामिल हैं। उनके साहित्य का अनुवाद कई भारतीय एवं विदेशी भाषाओं में हो चुका है।

पुरस्कार व सम्मान

उन्हें मध्य प्रदेश शासन का 'साहित्य शिखर सम्मान', मध्य प्रदेश हिन्दी साहित्य सम्मेलन का 'भवभूति अलंकरण', मध्य प्रदेश के राज्यपाल द्वारा अहिन्दी भाषी हिन्दी लेखिका का सम्मान भी मिल चुका है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मालती_जोशी&oldid=307439" से लिया गया