माधव श्रीहरि अणे  

माधव श्रीहरि अणे
Madhav-Shrihari-Aney.jpg
पूरा नाम माधव श्रीहरि अणे
अन्य नाम 'बापूजी अणे' या 'लोकनायक अणे'
जन्म 29 अगस्त, 1880
जन्म भूमि वणी, यवतमाल, महाराष्ट्र
मृत्यु 26 जनवरी, 1968
अभिभावक श्रीहरि अणे
पति/पत्नी यमुना बाई
नागरिकता भारतीय
आंदोलन नमक सत्याग्रह
पुरस्कार-उपाधि पद्म विभूषण
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
पद बिहार के राज्यपाल

माधव श्रीहरि अणे (अंग्रेज़ी: Madhav Shrihari Aney, जन्म- 29 अगस्त, 1880, महाराष्ट्र; मृत्यु: 26 जनवरी, 1968) भारत की आज़ादी के लिए संघर्ष करने वाले स्वतंत्रता सेनानियों में से एक थे। उनके पिता एक विद्वान् व्यक्ति थे। माधव श्रीहरि अणे लोकमान्य तिलक से अत्यधिक प्रभावित थे। ये कुछ समय तक 'भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस' के सदस्य भी रहे। गाँधी जी के 'नमक सत्याग्रह' के समय इन्होंने भी जेल की सज़ा भोगी। 1943 से 1947 ई. तक ये श्रीलंका में भारत के उच्चायुक्त भी रहे। आज़ादी प्राप्त करने के बाद इन्हें बिहार का राज्यपाल भी बनाया गया था।

जन्म तथा शिक्षा

लोगों में श्रद्धा के कारण 'बापूजी अणे' या 'लोकनायक अणे' के नाम से विख्यात माधव श्रीहरि अणे का जन्म 29 अगस्त, 1880 ई. को महाराष्ट्र के यवतमाल ज़िले के वणी नामक स्थान में हुआ था। उनके विद्वान् पिता श्रीहरि अणे ने पुत्र की शिक्षा पर समुचित ध्यान दिया था। बापूजी अणे ने 'कोलकाता विश्वविद्यालय' से उच्च शिक्षा प्राप्त की और 1904 से 1907 ई. तक अध्यापन का कार्य भी करते रहे। फिर उन्होंने यवतमाल में वकालत आरम्भ कर दी।

राजनीति में प्रवेश

युवक अणे पर लोकमान्य तिलक के 'मराठा' और 'केसरी' पत्रों का भी बड़ा प्रभाव पड़ा। 1914 में जब तिलक जेल से छूटकर आये तो उनसे सर्वप्रथम मिलने वालों में अणे भी थे। तिलक के प्रभाव से वे राजनीति में भाग लेने लगे थे। उन्हें अपने ज़िले की कांग्रेस का अध्यक्ष चुना गया था। जब 'होमरूल लीग' की स्थापना हुई तो उसके उपाध्यक्षों में अणे भी थे। 1921 से 1930 तक उन्होंने विदर्भ प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्षता की। वे कुछ वर्षों तक 'भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस' की कार्यकारिणी के सदस्य भी रहे। 'स्वराज्य पार्टी' की ओर से वे केन्द्रीय असेम्बली के सदस्य चुने गए और वहाँ अपने दल के मंत्री बने थे। उन्होंने 'नमक सत्याग्रह' के समय जेल यात्रा भी की।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

भारतीय चरित कोश |लेखक: लीलाधर शर्मा 'पर्वतीय' |प्रकाशक: शिक्षा भारती, मदरसा रोड, कश्मीरी गेट, दिल्ली |पृष्ठ संख्या: 624 |


संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=माधव_श्रीहरि_अणे&oldid=634931" से लिया गया