महात्मा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय  

महात्मा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय

महात्मा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय, महाराष्ट्र राज्य के वर्धा ज़िले में स्थित है। इस विश्वविद्यालय की स्थापना भारत सरकार ने संसद द्वारा पारित एक अधिनियम द्वारा की है। इस अधिनियम को भारत के राजपत्र में 8 जनवरी सन् 1997 को प्रकाशित किया गया। यह अधिनियम शिक्षा और अनुसंधान के माध्यम से हिन्दी भाषा और साहित्य का संवर्धन एवं विकास करने हेतु एक शैक्षणिक विश्वविद्यालय की स्थापना करता है, जिससे हिन्दी बेहतर कार्यदक्षता प्राप्त कर प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय भाषा बने। साथ ही विभिन्न ज्ञानानुशासनों में मौलिक सृजन हिन्दी भाषा के माध्यम से हो सके तथा विश्व की अन्य भाषाओं में विद्यमान ज्ञान संपदा का अनुवाद हिन्दी भाषा में किया जा सके।[1]

स्थापना

महात्मा गांधी के सपनों के भारत में एक सपना राष्ट्रभाषा के रूप में हिन्दी को प्रतिष्ठित करने का भी था। उन्होंने कहा था कि राष्ट्रभाषा के बिना कोई भी राष्ट्र गूँगा हो जाता है। नागपुर में आयोजित 'प्रथम विश्व हिन्दी सम्मेलन'[2] में यह प्रस्ताव पारित किया गया था कि संयुक्त राष्ट्रसंघ में हिन्दी को आधिकारिक भाषा के रूप में स्थान दिया जाए तथा एक अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय की स्थापना की जाय, जिसका मुख्यालय वर्धा में हो। अगस्त, 1976 में मॉरीशस में आयोजित द्वितीय विश्व हिन्दी सम्मेलन में यह तय किया गया कि मॉरीशस में एक विश्व हिन्दी केंद्र की स्थापना की जाए जो सारे विश्व में हिन्दी की गतिविधियों का समन्वय कर सके। 'चतुर्थ विश्व हिन्दी सम्मेलन'[3] के बाद 'विश्व हिन्दी सचिवालय' की स्थापना मॉरीशस में हुई और भारत में एक 'अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय' की स्थापना को मूर्त रूप देने की आवश्यकता समझी गयी। यह संभव हुआ वर्ष 1997 में, जब भारत की संसद द्वारा एक अधिनियम पारित करके महात्मा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय की स्थापना राष्ट्रपिता की कर्मभूमि वर्धा में की गयी। इस विश्वविद्यालय की स्थापना से भारतेंदु बाबू हरिश्चंद्र की एक लालसा भी पूरी हुई जो मृत्युपर्यन्त उनके मन-मस्तिष्क में छायी रही थी। वह लालसा थी ‘अपने उद्योग से एक शुद्ध हिन्दी की यूनिवर्सिटी स्थापित करना’।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. महात्मा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय (हिन्दी) (पी.एच.पी) ज्ञान शांति मैत्री। अभिगमन तिथि: 04 जनवरी, 2011।
  2. 10-14 जनवरी, 1975
  3. दिसम्बर-1993
  4. महात्मा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय (हिन्दी) (पी.एच.पी) ज्ञान शांति मैत्री। अभिगमन तिथि: 04 जनवरी, 2011।
  5. महात्मा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय (हिन्दी) (पी.एच.पी) ज्ञान शांति मैत्री। अभिगमन तिथि: 04 जनवरी, 2011।
  6. इंटरनेट पर हिन्दी अनुप्रयोग के वर्तमान परिदृश्य पर विशद चर्चा (हिन्दी) (एच.टी.एम.एल) हिन्दी विश्व। अभिगमन तिथि: 17 जनवरी, 2011।

संबंधित लेख


सुव्यवस्थित लेख
और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=महात्मा_गाँधी_अंतर्राष्ट्रीय_हिन्दी_विश्वविद्यालय&oldid=597777" से लिया गया