मंडोर उद्यान  

मंडोर उद्यान
मंडोर उद्यान, जोधपुर
विवरण 'मंडोर उद्यान' राजस्थान का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यहाँ जोधपुर के शासकों के कई ऐतिहासिक स्मारक हैं।
राज्य राजस्थान
ज़िला जोधपुर
स्थान मंडोर
संबंधित लेख राजस्थान, राजस्थान पर्यटन, जोधपुर
अन्य जानकारी इस उद्यान में 'अजीत पोल', 'देवताओं की साल' व 'वीरों का दालान', मंदिर, बावड़ी, 'जनाना महल', 'एक थम्बा महल', नहर, झीलजोधपुर के विभिन्न महाराजाओं के स्मारक बने है, जो स्थापत्य कला के बेजोड़ नमूने हैं।

मंडोर उद्यान राजस्थान में जोधपुर से 9 किलोमीटर दूर मारवाड़ की प्राचीन राजधानी मंडोर में स्थित है। यहाँ जोधपुर के शासकों के स्मारक हैं। कई ऊंचे-ऊंचे चट्टानी चबूतरे तथा एक बड़ी चट्टान में तराशी हुई देवी-देवताओं की पंद्रह आकृतियाँ यहाँ के मुख्या आकर्षण हैं। मंडोर अपने आकर्षक उद्यानों के कारण एक प्रचलित पिकनिक स्थल बन गया है।

इतिहास

मंडोर पुराने समय में मारवाड़ राज्य की राजधानी हुआ करती थी। राव जोधा ने मंडोर को असुरक्षित मानकर सुरक्षा के लिहाज से चिड़िया कूट पर्वत पर मेहरानगढ़ का निर्माण कर अपने नाम से जोधपुर को बसाया था तथा इसे मारवाड़ की राजधानी बनाया। वर्तमान में मंडोर दुर्ग के भग्नावशेष ही बाकी हैं, जो बौद्ध स्थापत्य शैली के आधार पर बना था। इस दुर्ग में बड़े-बड़े प्रस्तरों को बिना किसी मसाले की सहायता से जोड़ा गया था।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मंडोर_उद्यान&oldid=603093" से लिया गया