भुज  

भुज शहर पश्चिमोत्तर गुजरात राज्य के पश्चिम-मध्य भारत में स्थित है। भुज शहर कच्छ ज़िले का प्रशासनिक मुख्यालय है।

इतिहास

भुज शहर की स्थापना 1548 में राव खेवगरजी ने की थी। राव लखपतिजी के शासनकाल में निर्मित आइना महल स्थापत्य कला का एक सुंदर नमूना है, जिसे अब संग्रहालय में बदल दिया गया है।

उद्योग और व्यापार

भुज गेहूँ, कपास, नमक और मवेशियों का व्यापारिक केंद्र है। ठप्पे की छपाई का कपड़ा, बंधेज, चाँदी का सामान और कढ़ाई वाले वस्त्रों के अलावा यह कच्छी हस्तशिल्प के लिए भी प्रसिद्ध है। भुज में देश का पहला बड़े पैमाने का सौर तालाब है।

शिक्षण संस्थान

भुज शहर में राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज, रामजी रावजी ललन महाविद्यालय और श्री जे. बी ठक्कर कॉमर्स महाविद्यालय समेत कई महाविद्यालय हैं।

यातायात और परिवहन

भुज शहर सड़क, रेल और हवाई मार्ग द्वारा अन्य शहरों से जुड़ा हुआ है।

जनसंख्या

1991 की जनगणना के अनुसार भुज शहर की जनसंख्या 1,02,176 है।

मुख्य बिंदु
  • मोटी दीवारों से घिरी भुज नगरी, लहँगे-चुन्नियों और चाँदी के आभूषणों की दूकानें, सब मिलकर किसी परिकथा की नगरी का आभास देती है।
  • यह ज्ञात करना बहुत ही मुश्किल है कि भूकम्प के बाद भुज नगरी का पुनर्निर्माण कैसा हुआ होगा।

वीथिका


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध


टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=भुज&oldid=216584" से लिया गया