भाभर  

भाभर शिवालिक की पदस्थली पर स्थित एक विशिष्ट भौगोलिक क्षेत्र है।

  • इस क्षेत्र की सरन्ध्रता इतनी अधिक है कि यहाँ पर सारी नदियाँ लुप्त हो जाती हैं।
  • यहाँ पर 'यूलालिओप्सिस बिनाता' नामक स्थानीय घास पुमुख रूप से पाई जाती है।
  • इस घास के यहाँ बड़ी मात्रा में पाए जाने से ही इस क्षेत्र का नाम 'भाभर' पड़ा।
  • अधिकांशत: इस घास का उपयोग मुख्यत: कागज़ और रस्सी बनाने के लिए किया जाता है।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=भाभर&oldid=229189" से लिया गया