बौधायन धर्मसूत्र  

कर्ता

इस धर्मसूत्र के रचयिता बौधायन (या बोधायन) हैं। किन्तु स्वयं इस धर्मसूत्र में बौधायन के मत को कई स्थलों पर उद्धृत किया गया है।[1] एक स्थान पर तर्पण के प्रसंग में अन्य सूत्रकारों के साथ काण्व बौधायन का उल्लेख भी किया गया है।[2] इससे स्पष्ट है कि काण्व बौधायन वर्तमान धर्मसूत्र के कर्ता नहीं हो सकते। इस धर्मसूत्र की रचना के समय वे ॠषि माने जाते थे। वर्तमान धर्मसूत्र का कर्ता इनका ही वंशज है, जिसकी अर्वाचीनता स्वत: सिद्ध है। बौधायन धर्मसूत्र के टीकाकार गोविन्दस्वामी ने भी वर्तमान धर्मसूत्र के कर्ता को काण्वायन कहा है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. बौधायन धर्मसूत्र, 1.3.13, 1.4.9, 3.5.8, 3.6.2 आदि
  2. बौधायन धर्मसूत्र, 2.5.27- काण्वं बौधायनं तर्पयामि
  3. बौधायन धर्मसूत्र 1.5.105-109 तथा 2.1.49-51 आदि
  4. यथा 2.9.9 में
  5. 3.3-6 में
  6. यथा बौधायन सूत्र 2.6.35 पर ॠम् 2-24-4 आदि मन्त्र
  7. बौधायन धर्मसूत्र 2-5-13 तथा 3-7.9 आदि सूत्रों पर अनेक मन्त्रांश उद्धृत हैं
  8. 1-3-19 सूत्र की टीका में
  9. 2.1.1
  10. बौधायन धर्मसूत्र 2-5.14
  11. बौधायन धर्मसूत्र, 2.1-7 तथा 2.2-17
  12. उक्तो वर्णधर्मश्चाश्रमधर्मश्च- गौतम धर्मसूत्र 3.1-1 तथा बौधायन धर्मसूत्र 3.10-1 नहि कर्म क्षीयत इति- गौतम धर्मसूत्र, 3.1.5 तथा बौधायन धर्मसूत्र 10.1.5
  13. बौधायन धर्मसूत्र 1.5-25
  14. बौधायन धर्मसूत्र, 1.5-23
  15. बौधायन धर्मसूत्र 1-1.11, 1.4.1, 1.4.2 आदि के श्लोक
  16. बौधायन धर्मसूत्र, 1.11.1 अष्टौ विवाहा:। (अष्टाध्यायी 4.1.116
  17. बौधायन धर्मसूत्र 2.2.26–32
  18. बौधायन धर्मसूत्र 1–8, 2–5
  19. बौधायन धर्मसूत्र 1–8, 2–5
  20. बौधायन धर्मसूत्र 1–8, 2–5
  21. बौधायन धर्मसूत्र 2.1.17
  22. बौधायन धर्मसूत्र 1.10.17
  23. बौधायन धर्मसूत्र 1.10.1 षड्भागभृतो राजा रक्षेत्प्रजाम्
  24. अभि. शाकु. 2–14
  25. बौधायन धर्मसूत्र 1–6.5
  26. बौधायन में 2–2–45
  27. बौधायन धर्मसूत्र – न स्त्री स्वातन्त्र्यं विन्दते
  28. मनुस्मृति, 9.3
  29. बौधायन धर्मसूत्र 2–247
  30. बौधायन धर्मसूत्र 1.11.4
  31. बौधायन धर्मसूत्र 1–11.17

संबंधित लेख

श्रुतियाँ
और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=बौधायन_धर्मसूत्र&oldid=612439" से लिया गया