बाबा रामचंद्र  

बाबा रामचंद्र
बाबा रामचंद्र
पूरा नाम बाबा रामचंद्र
जन्म 1875
जन्म भूमि ग्वालियर, मध्यप्रदेश
मृत्यु 1950
नागरिकता भारतीय
प्रसिद्धि किसान नेता तथा स्वतंत्रता सेनानी
जेल यात्रा भारत छोड़ो आंदोलन के कारण 1942 में ये नैनी जेल में बंद किये गये।
अन्य जानकारी अंग्रेज जो भारतीयों को कुली बनाकर ले गए थे, उन पर बड़े अत्याचार करते थे। बाबा रामचंद्र ने इसके विरोध में आवाज उठाई और लोगों को संगठित किया।

बाबा रामचंद्र (अंग्रेज़ी: Baba Ramchandra, जन्म: 1875 ग्वालियर, मध्यप्रदेश; मृत्यु: 1950) भारत के प्रसिद्ध किसान नेता तथा स्वतंत्रता सेनानी थे।[1]

परिचय

बाबा रामचंद्र का जन्म 1875 में ग्वालियर,मध्यप्रदेश के एक ग़रीब ब्राह्मण परिवार में हुआ था। इनका जीवन बड़ा घटना प्रधान रहा था। इन्हें औपचारिक शिक्षा का अवसर नहीं मिला, किंतु 'रामचरित मानस' का इन्होंने अध्ययन किया।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=बाबा_रामचंद्र&oldid=622298" से लिया गया