बाना सिंह  

बाना सिंह
नायब सूबेदार बाना सिंह
पूरा नाम नायब सूबेदार बाना सिंह
जन्म 6 जनवरी, 1949
जन्म भूमि काद्‌याल गाँव, जम्मू और कश्मीर
सेना भारतीय थल सेना
रैंक सूबेदार, मेजर, कैप्टन
यूनिट 8 जम्मू एंड कश्मीर लाइट इंफेंटरी
सेवा काल 1969-2000
सम्मान परमवीर चक्र (1987)
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी सियाचिन में जो चौकी बाना सिंह ने फ़तह की, उनका नाम बाद में 'बाना पोस्ट' रख दिया गया।

नायब सूबेदार बाना सिंह (अंग्रेज़ी: Naib Subedar Bana Singh, जन्म: 6 जनवरी, 1949 काद्‌याल गाँव, जम्मू और कश्मीर) परमवीर चक्र से सम्मानित भारतीय व्यक्ति है। इन्हें यह सम्मान सन 1987 में मिला। पाकिस्तान के साथ भारत की चार मुलाकातें युद्धभूमि में तो हुई हीं, कुछ और भी मोर्चे हैं, जहाँ हिन्दुस्तान के बहादुरों ने पाकिस्तान के मंसूबों पर पानी फेर कर रख दिया। सियाचिन का मोर्चा भी इसी तरह का एक मोर्चा है, जिसमें 8 जम्मू एंड कश्मीर लाइट इंफेंटरी के नायब सूबेदार बाना सिंह को उसकी चतुराई, पराक्रम और साहस के लिए परमवीर चक्र दिलवाया।

जीवन परिचय

बहादुर नायब सूबेदार बाना सिंह का जन्म 6 जनवरी 1949 को जम्मू और कश्मीर के काद्‌याल गाँव में हुआ था। 6 जनवरी 1969 को उनका फौजी जीवन शुरू हुआ थ और वह अपनी इस यूनिट में आए थे। सियाचिन में जो चौकी बाना सिंह ने फ़तह की, उनका नाम बाद में 'बाना पोस्ट' रख दिया गया। बाना सिंह ने इस कार्यवाही के लिए परमवीर चक्र पाया। उन्होंने कारगिल की लड़ाई का हाल भी जाना-सुना। उस समय तक वह फौज की सेवा में कार्यरत थे।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  • पुस्तक- परमवीर चक्र विजेता | लेखक- अशोक गुप्ता | पृष्ठ संख्या- 112

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=बाना_सिंह&oldid=617666" से लिया गया