फ़्रामजी कोवासजी बानाजी  

फ़्रामजी कोवासजी बानाजी एक प्रसिद्ध व्यवसायी और पारसी समाज के नेता थे।

  • फ़्रामजी बानाजी का जन्म 1767 ई. में हुआ था।
  • फ़्रामजी अपने समय के जहाजों के सबसे बड़े ठेकेदार थे।
  • जी. आई. पी. रेलवे कंपनी (अब सेंट्रल रेलवे) के हिस्से ख़रीदने वाले भी वे पहले व्यक्ति थे।
  • फ़्रामजी ने अनेक कपड़ा मिलों और बीमा कंपनियों की स्थापना में भी योग दिया।
  • फ़्रामजी ने कृषि की उन्नति और उस पर आधारित उद्योगों को प्रोत्साहन देने की दिशा में भी अग्रणी काम किया।
  • रेशम का उत्पादन बढ़ाने के लिए आवश्यक क़दम उठाने के साथ-साथ उन्नत प्रकार की चीनी मिल लगवाई।
  • बानाजी की सर्वाधिक ख्याति उनकी दानशीलता के लिए है। उन्होंने न केवल अपने समाज के वरन् सभी के हित के कार्यों में खुले हाथ से दान दिया।
  • पूजा स्थलों का निर्माण, कुएं खुदवाना ग़रीब और अभाव ग्रस्तों की सहायता तथा शिक्षण संस्थाओं को अनुदान आदि आपके प्रमुख कार्य थे।
  • 85 वर्ष की उम्र में 1825 ई. में आपका देहांत हो गया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=फ़्रामजी_कोवासजी_बानाजी&oldid=611715" से लिया गया