प्राण  

Disamb2.jpg प्राण एक बहुविकल्पी शब्द है अन्य अर्थों के लिए देखें:- प्राण (बहुविकल्पी)
प्राण
Pran-2.jpg
पूरा नाम प्राण कृष्ण सिकंद
प्रसिद्ध नाम प्राण
जन्म 12 फ़रवरी, 1920
जन्म भूमि दिल्ली
मृत्यु 12 जुलाई, 2013
मृत्यु स्थान मुम्बई
अभिभावक लाला केवल कृष्ण सिकंद
पति/पत्नी शुक्ला सिकंद
संतान अरविन्द, सुनील (पुत्र) और पिंकी (पुत्री)
कर्म भूमि मुंबई
कर्म-क्षेत्र अभिनेता
मुख्य फ़िल्में 'मधुमती' (1958), 'जिस देश में गंगा बहती है' (1967), 'उपकार' (1967), 'जानी मेरा नाम' (1970), 'परिचय' (1972), 'विक्टोरिया नम्बर नं. 203' (1972), 'ज़ंजीर' (1973), 'मजबूर' (1974), 'कालिया' (1981), 'शराबी' (1984) आदि।
पुरस्कार-उपाधि दादा साहब फाल्के पुरस्कार, पद्म भूषण, विलेन ऑफ़ द मिलेनियम अवार्ड[1]
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी प्राण को तीन बार फ़िल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता का पुरस्कार मिला है। प्राण ने लगभग 350 फ़िल्मों में काम किया।
बाहरी कड़ियाँ प्राण

प्राण कृष्ण सिकंद (अंग्रेज़ी: Pran Krishan Sikand, जन्म: 12 फ़रवरी, 1920; मृत्यु: 12 जुलाई, 2013) हिन्दी फ़िल्मों के जाने माने नायक, खलनायक और चरित्र अभिनेता थे। प्राण ऐसे अभिनेता थे, जिनके चेहरे पर हमेशा मेकअप रहता है और भावनाओं का तूफ़ान नज़र आता है जो अपने हर किरदार में जान डालते हुए यह अहसास करा जाता है कि उनके बिना यह किरदार बेकार हो जाता। उनकी संवाद अदायगी की शैली को आज भी लोग भूले नहीं हैं।

जीवन परिचय

प्राण का जन्म 12 फ़रवरी, 1920 को पुरानी दिल्ली के बल्लीमारान इलाके में बसे एक रईस परिवार में हुआ था। बचपन में उनका नाम 'प्राण कृष्ण सिकंद' था। उनका परिवार बेहद समृद्ध था। प्राण बचपन से ही पढ़ाई में होशियार थे। बड़े होकर उनका फोटोग्राफर बनने का इरादा था। 1940 में जब मोहम्मद वली ने पहली बार पान की दुकान पर प्राण को देखा तो उन्हें फ़िल्मों में उतारने की सोची और एक पंजाबी फ़िल्म “यमला जट” बनाई, जो बेहद सफल रही। फिर क्या था, इसके बाद प्राण ने कभी मुड़कर देखा ही नहीं। 1947 तक वह 20 से ज़्यादा फ़िल्मों में काम कर चुके थे और एक हीरो की इमेज के साथ इंड्रस्ट्री में काम कर रहे थे। हालांकि लोग उन्हें विलेन के रुप में देखना ज़्यादा पसंद करते थे।[2]

प्राण

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. आधिकारिक वेबसाइट
  2. 2.0 2.1 2.2 हिन्दी सिनेमा का एक तारा – प्राण (हिन्दी) (पी.एच.पी) जागरण जंक्शन। अभिगमन तिथि: 14 फ़रवरी, 2011
  3. 3.0 3.1 संवाद अदायगी के गुरु रहे हैं प्राण (हिन्दी) (एच.टी.एम.एल) ख़ास खबर। अभिगमन तिथि: 12 फ़रवरी, 2011
  4. 4.0 4.1 4.2 प्राण की संवाद अदायगी के कायल लोग (हिन्दी) (एच.टी.एम.एल) समय लाइव। अभिगमन तिथि: 14 फ़रवरी, 2011
  5. नायकों पर भारी प्राण की खलनायकी... (हिंदी) आकाश अपना है (ब्लॉग)। अभिगमन तिथि: 14 जुलाई, 2013।
  6. प्राण के बेहतरीन डायलॉग: यहां शेर खान को कौन नहीं जानता... (हिंदी) बीबीसी हिंदी। अभिगमन तिथि: 14 जुलाई, 2013।
  7. 7.0 7.1 7.2 7.3 7.4 7.5 प्राण के जीवन की अनसुनी बातें (हिंदी) रांची एक्सप्रेस। अभिगमन तिथि: 18 जून, 2013।
  8. महिला कलाकार के तौर पर प्राण ने शुरू किया कैरियर, रामलीलाओं में बनते थे सीता माँ (हिंदी) बिहार डेली न्यूज। अभिगमन तिथि: 18 जून, 2013।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=प्राण&oldid=617538" से लिया गया