पोलियो  

पोलियो एक विषाणुजन्य रोग है, जो अधिकांशत: बच्चों को होता है। यद्यपि यह बीमारी किसी को भी हो सकती है, फिर भी बच्चे ही इसका शिकार ज़्यादा होते हैं, क्योंकि वयस्कों में इस बीमारी के प्रति कुछ रोग प्रतिरोधक क्षमता आ चुकी होती है, जबकि बच्चों में नहीं। पोलियो का वायरस संक्रमण से फैलता है। इसका संक्रमण मुख्य रूप से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फेको-मौखिक मार्ग के द्वारा होता है। यह पानी या मल पदार्थ, अस्वच्छ भोजन के साथ, जल के संक्रमण से हो सकता है। यह एक गंभीर वायरल संक्रमण है, जिससे शरीर के अंगों में विकलांगता आ सकती है। पोलियो लाईलाज है, क्‍योंकि इसका लकवापन ठीक नहीं हो सकता है। बचाव ही इस बीमारी का एक मात्र उपाय है।

परिचय

पोलियो से ग्रसित बच्चे

'पोलियोमाइलिटिस' को अक्सर 'पोलियो' या 'शिशु लकवा' कहा जाता है। पोलियोमाइलिटिस (पोलियो) एक संक्रमण है, जो पोलियो वायरस के कारण होता है। यह संक्रामक बीमारी पूरे शरीर को प्रभावित कर सकती है, किंतु ज़्यादातर स्नायुओं और माँस-पेशियों को अधिक प्रभावित करती है। इसमें पक्षाघात के विभिन्न प्रकार होते हैं। रीढ़ की पोलियो सबसे आम रूप है। असममित पक्षाघात में विशेषता यह है कि इसमें अधिक बार पैर शामिल होते हैं तथा कभी-कभी रोगी की गंभीर अवस्था में मृत्यु तक हो सकती है। पोलियो की बीमारी किसी भी व्यक्ति को हो सकती है, यद्यपि मुख्यत: यह बच्चों में ही पाई जाती है, क्योंकि वयस्कों में इसके लिए कुछ रोग प्रतिरोधक क्षमता आ जाती है। भारत में कुल पोलियो रोगियों में से आधे से अधिक एक साल से कम उम्र के बच्चे होते है तथा छ: माह से तीन वर्ष तक के बच्चे पोलियो के सर्वाधिक शिकार होते हैं। पोलियो रोग मुख्यत: एक से पाँच वर्ष तक की उम्र के बच्चों को अपना शिकार बनाता है। यह एक ऐसा वायरल रोग है, जो कि नवजात शिशु या पाँच वर्ष तक के बच्चों के शरीर में प्रवेश कर जाता है और उनके हाथ या पांवों को कार्य करने के योग्य नहीं छोड़ता और उन बच्चों में विकलांगता पैदा कर देता है। इस रोग से ग्रस्त बच्चे खड़े होकर नहीं चल सकते और वे अपने हाथ से भी कार्य करने में असमर्थ हो जाते हैं।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. लगभग 90% लोग
  2. सामान्य 200:1 होता है।
  3. जो निष्फल पोलियोमाइलिटिस के रूप में जाना जाता है।
  4. कार्य न करने योग्य बनना।
  5. अर्थात् हाथ, पांव
  6. गर्दन, पीठ, हाथ या पांव

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=पोलियो&oldid=612259" से लिया गया