पैर  

‘पैर' किसी फ़सल (गेहूँ, जौ, ज्वार, बाजरा आदि) कटाई के दौरान, खेत के एक हिस्से में बना एक छोटा सा क्षेत्र होता है, जहाँ पूरे खेत की कटी हुई फसल इकट्ठा की जाती है। इसी पैर में फ़सल से अनाज निकाला जाता है। पैर बनाना भी एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है। एक बड़ी सी क्यारी बना ली जाती है। इसमें पानी भर देते हैं। नंगे पैरों से इसकी खुंदाई होती है। सूखने के बाद पैर तैयार हो जाता है। यहीं पर बालों से अनाज निकालने का कार्यक्रम चलता है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. भारतकोश संस्थापक श्री आदित्य चौधरी जी की फ़ेसबुक वॉल से उद्धृत

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=पैर&oldid=512043" से लिया गया