पिरान कलियर दरगाह  

पिरान कलियर दरगाह उत्तराखण्ड राज्य के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल हरिद्वार के दक्षिण से 23 कि.मी. दूर स्थित है। यह दरगाह 'हज़रत मखदूम अल्लाउद्दीन अली अहमद साबिर जी' की है। हिन्दू और मुसलमान दोनों के लिए यह स्थान बहुत धार्मिक महत्त्व रखता है।

  • रूड़की के समीप ऊपरी गंग नहर के किनारे ज़िला मुख्यालय से 25 किलोमीटर की दूरी पर 'पिरान कलियर' नामक ग्राम स्थित है। इसी ग्राम में 'हज़रत मखदूम अल्लाउद्दीन अली अहमद साबिर' की दरगाह है।
  • 'रबी-अल अव्वल' माह के दौरान बड़ी संख्या में भक्त यहाँ आते हैं। 'रबी-अल अव्वल' इस्लामिक कैलेंडर में एक महत्त्वपूर्ण महीने को कहा जाता है।
  • यह पवित्र दरगाह हिन्दुओं और मुसलमानों के बीच एकता का सूत्र है। दोनों धर्मों के मानने वाले यहाँ मन्नत मांगने आते हैं तथा चादर चढ़ाते हैं।
  • यहाँ 'उर्स' के आयोजन स्थल पर दरगाह कमेटी द्वारा देश-विदेश से आने वाले जायरिनों/श्रद्वालुओं के लिये आवास की उचित व्यवस्था है।
  • 'उर्स' की परम्परा सात सौ वर्षो से भी अधिक पुरानी है। इस अवसर पर यहां लाखों की संख्या में श्रद्धालु देश-विदेश से आते हैं।
  • दरगाह के बाहर खाने-पीने की अच्छी व्यवस्था उपलब्ध है। पीने का पानी की व्यवस्था दरगाह कमेटी द्वारा की जाती है।
  • 'गढ़वाल मण्डल विकास निगम' द्वारा संचालित पर्यटन आवासगृह भी उपलब्ध हैं, जिसमें आवास एवं खान-पान की व्यवस्था उपलब्ध है।
  • 'उर्स' के समय हैण्डपम्पों की व्यवस्था एवं शौचालय आदि की सुविधा भी उपलब्ध रहती है।
  • 'रबी-अल अव्वल' के चाँद के अनुसार मेले के आयोजन की तिथि तय की जाती है एवं मेला एक माह तक चलता है।
  • यहाँ उर्स के दौरान पारम्परिक सूफ़ीयाना कलाम व कव्वालियां विशेष आकर्षण का केंद्र होती हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=पिरान_कलियर_दरगाह&oldid=515227" से लिया गया