नागा  

हार्नबिल त्योहार मनाते हुए नागा

नागा भारत की प्रमुख जनजातियों में से एक है। भारत के उत्तर-पूर्वी राज्य नागालैण्ड, जिसमें नंगा पर्वत श्रेणियाँ फैली हुई हैं, नागा जनजाति का मूल निवास स्थान है। 'नागा' शब्द की उत्पत्ति के बारे में विद्वानों के विचार भिन्न-भिन्न हैं। कुछ की मान्यता है कि यह शब्द संस्कृत के 'नागा' शब्द से निकला है, जिसका अर्थ 'पहाड़' से होता है और इस पर रहने वाले लोग 'पहाड़ी' या 'नागा' कहलाते हैं। कच्छारी भाषा में 'नागा' से तात्पर्य 'एक युवा बहादुर लड़ाकू व्यक्ति' से लिया जाता है। टोल्मी के अनुसार 'नागा' का अर्थ 'नंगे' रहने वाले व्यक्तियों से है। डॉक्टर वैरियर इल्विन का कथन है कि 'नगा' शब्द की उत्पत्ति 'नॉक' या 'लोग' से हुई है। अत: उत्तरी-पूर्वी भारत में रहने वाले इन लोगों को 'नगा' कहते हैं। नंगे रहने से 'नगा' शब्द का सम्बन्ध नहीं माना जाता, क्योंकि यह जनजाति पूर्णत: नंगी नहीं रहती।

स्वभाव

नागा लोग स्वाभाव से लड़ाकू होते हुए भी सरल और दिल के सच्चे होते हैं। वे सहनशील होते हैं, किंतु शत्रुता हो जाने पर जान के पीछे भी पड़ जाते हैं। एक बार मित्रता हो जाने पर पिछली शत्रुता भुलाकर सदा के लिए हितैषी और मित्र बन जाते हैं।

उत्पत्ति विवाद

हार्नबिल त्योहार मनाते हुए नागा

'नागा' लोगों की उत्पत्ति के बारे में विवाद पाया जाता है। ऐसी मान्यता है कि इन लोगों का सम्बन्ध 'इण्डी-मंगोलॉयड' प्रजाति से है, जो कि सम्पूर्ण पूर्वी सीमावर्ती भागों में पाई जाती है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=नागा&oldid=322294" से लिया गया