नागरी प्रचारिणी पत्रिका  

नागरी प्रचारिणी पत्रिका का प्रकाशन 1896 में हुआ था। यह पत्रिका 'नागरी प्रचारिणी सभा' द्वारा त्रैमासिक रूप में प्रकाशित की गई थी।

  • इस पत्रिका के सम्पादक श्यामसुन्दर दास, महामहोपाध्याय सुधाकर द्विवेदी, कालीदास और राधाकृष्ण दास थे।
  • 1907 ई. में यह मासिक पत्रिका में परिवर्तित कर दी गई और इसके सम्पादक श्यामसुन्दर दास, रामचन्द्र शुक्ल, रामचन्द्र शर्मा और वेणीप्रसाद बनाए गए।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=नागरी_प्रचारिणी_पत्रिका&oldid=290573" से लिया गया